Wednesday, July 6, 2022
HomeIPOस्टरलाइट पावर (Satellite power) और ईएसडीएस को आईपीओ (IPO) की मंजूरी...

स्टरलाइट पावर (Satellite power) और ईएसडीएस को आईपीओ (IPO) की मंजूरी (Approval)-2022

नयी दिल्ली, (New Delhi)  छह दिसंबर (भाषा) अनिल अग्रवाल (Anil Agrawal) की अगुवाई वाली कंपनी (Company) स्टरलाइट पावर ट्रांसमिशन (Satellite power transmission)  और क्लाउड (Cloud)  सेवा एवं डेटा सेंटर (Data Center) फर्म ईएसडीएस सॉफ्टवेयर सॉल्यूशन (Software solutions) को बाजार नियामक भारतीय (Indian) प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड (Board)  (सेबी) ने अपने आरंभिक सार्वजनिक निर्गम (आईपीओ) लाने की मंजूरी (Approval)  दे दी है।

इन दोनों कंपनियों (Company) ने अगस्त-सितंबर (August- September) के दौरान भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड (सेबी) से आईपीओ (IPO) लाने के लिए मंजूरी (Approval) मांगी थी।

सेबी की वेबसाइट (Website)  पर सोमवार (Monday) को डाली गई सूचना (Notice) के मुताबिक, बाजार (Market)  नियामक का निष्कर्ष पत्र (Letter) स्टरलाइट पावर (Satellite power)  को दो दिसंबर (December) को मिला जबकि ईएसडीएस को यह पत्र तीन दिसंबर (December) को प्राप्त हुआ। इसके साथ ही दोनों कंपनियों (Company) के लिए आईपीओ (IPO) लाने का रास्ता साफ (Clear) हो गया है।

स्टरलाइट पावर (Satellite power) का आईपीओ (IPO)  के जरिये Rs.1,250 करोड़ रुपये जुटाने का लक्ष्य (Aim) है। वहीं ईएसडीएस (ESDS)  के आरंभिक निर्गम का आकार करीब 1,200 करोड़ रुपये रहने का अनुमान है।

Rs.1,250 करोड़ रुपए (Cr. Rupya) के फ्रेश शेयर (Fresh Share) जारी किए जाएंगे

IPO के तहत Rs.1,250 करोड़ रुपए (Cr. Rupya) के फ्रेश शेयर (Fresh Share) जारी किए जाएंगे। वेदांता चीफ अनिल अग्रवाल (Anil Agrawal) और ट्विन स्टार ओवरसीज स्टरलाइट पावर (Satellite power) ट्रांसमिशन लिमिटेड के प्रमोटर (Promoters)  हैं। एक्सिस कैपिटल, (Axis Capital) ICICI सिक्योरिटीज और JM फाइनेंशियल (Financial)  को इश्यू का लीड मैनेजर (Lead manager)  नियुक्त किया गया है। कंपनी (Company) के शेयर स्टॉक (Share stock)  एक्सचेंज BSE और NSE पर लिस्ट (List) होंगे।

आम निवेशकों (Investors) के लिए 10% रिजर्व (Reserve)

DRHP के मुताबिक IPO का 75% हिस्सा क्वालिफाइड (Qualified) इंस्टीट्यूशनल बायर्स (QIB) के लिए रिजर्व (Reserve) रखा गया है। नॉन-इंस्टीट्यूशनल (Non institutions) इनवेस्टर्स (NII) के लिए 15% हिस्सा (Share)  रिजर्व रखा गया है। वहीं रिटेल (Retail)  निवेशकों के लिए सिर्फ (Only) 10% हिस्सा रिजर्व (Reserve)  रहेगा। DRHP के मुताबिक कुछ शेयर (Share)  कंपनी के कर्मचारियों (Employees) को भी दिए जाएंगे। लेकिन यह स्पष्ट नहीं है कि उनको कितना हिस्सा (Share)  दिया जाएगा।

कर्ज (Loan)  घटाने में होगा फंड (Fund) का इस्तेमाल

कंपनी (Company) के मुताबिक IPO से जुटाए (Collect) गए फंड (Fund) का इस्तेमाल (Use) खरगोन ट्रांसमिशन (Transmission) लिमिटेड (KTL) द्वारा लिए गए कर्ज (Loan)  को चुकाने में होगा। कंपनी (Company) Rs. 220 करोड़ रुपए तक के प्री-आईपीओ (Pre- IPO) प्लेसमेंट (Placement) पर विचार कर सकती है। यदि प्लेसमेंट (Placement) पूरा हो जाता है, तो इश्यू साइज (Issue Size) छोटा हो जाएगा।

कंपनी (Company) बिजली उत्पादन में काम आने वाले प्रोडक्ट (Product) बनाती है

स्टरलाइट पावर (Satellite power) , बिजली उत्पादन में काम (Work) आने वाले प्रोडक्ट (Product)  बनाने के साथ ही पावर ट्रांसमिशन (Power transmission)  का बिजनेस (Business) भी करती है। कंपनी (Company) अपनी 2 यूनिट्स (Units)  की मदद से इंटीग्रेटेड (Integrate)  पावर ट्रांसमिशन इंफ्रास्ट्रक्चर (power transmission infrastructure) और सॉल्यूशन सर्विस (Solution service)  भी उपलब्ध कराती है। कंपनी (Company)  के पास भारत और ब्राजील (Brazil) में पावर इंफ्रास्ट्रक्चर (Infrastructure) असेट्स हैं। पावरग्रिड (Powergrid) के बाद यह दूसरी बड़ी पावर (Power)  ट्रांसमिशन कंपनी (Company)  है। मार्केट (Market) हिस्सेदारी के मामले में यह अडाणी (Adani) ट्रांसमिशन (Transmission)  से आगे है।

क्या भाव और भी बढ़ेंगे?

वित्त वर्ष 2019-2020 के रिपोर्ट (Report) के मुताबिक, स्टरलाइट पावर (sterlite power transmission) के कुल शेयरों (Share) की संख्या Rs.6.11 करोड़ है।

अनलिस्टेड शेयर  (Unlisted Share) के डीलर और unlistedarena.com के फाउंडर (Founder)  अभय दोशी (Abhay Doshi) बताते हैं, “IPO की बात सामने आने से पहले अनलिस्टेड शेयर (Unlimited share) Rs. 500 रुपये के आसपास मिलते थे, जो अब 850-900 में मिल रहे है, यानी Rs.6.11 करोड़ शेयर (Share) को इस भाव से कैलकुलेट करें तो कंपनी (Company) के अनलिस्टेड शेयरों (Unlisted shares) की वैल्यूएशन (Valuation) Rs.5,180 करोड़ रुपये बैठती हैं, जबकि IPO वैल्यूएशनb(Valuation) Rs.10,000 करोड़ रुपये होने की उम्मीद (Hope)  है। यानी अनलिस्टेड (Unlisted)  वैल्यूएशन और IPO वैल्यूएशन (Valuation) के बीच 100% गैप (Gape) है।

कंपनी (Company) लाना चाहती है IPO

स्टरलाइट पावर (Satellite power)  ने पिछले हफ्ते शेरहोल्डर्स (Shareholders)  को IPO की योजना के लिए पोस्टल बैलेट (Postal wallets) का नोटिस (Notice) भेजा था। मीडिया रिपोर्ट (Media reports)  और बाजार (Market)  में चल रही चर्चा के मुताबिक, वेदांता ग्रुप (Vedant group) अपनी पावर ट्रांसमिशन कंपनी (sterlite power transmission) को 2021 के अंत तक लिस्ट (List) कराना चाहता है और 20% शेयर्स (Share) Rs.2,000 करोड़ रुपये में बेचने (Sell) की योजना है। इस हिसाब से स्टरलाइट पावर (Satellite power)  के IPO की वैल्यूएशन (Valuations) Rs.10,000 करोड़ रुपये होने की उम्मीद (Hope)  है।

 वैल्यूएशन (Valuation)  का ये गैप (Gap)  देखते हुए स्टरलाइट पावर (Satellite power) के अनलिस्टेड शेयर (Unlisted Share) Rs.1,800 रुपये तक जाने की उम्मीद (Hope) है और इसलिए डिमांड (Demand) बढ़ रही है।

भारत (India)  में पावर ट्रांसमिशन (Power Transmission)  का बाजार (Market)  बड़ा है और तेजी से बढ़ रहा है। इस मार्केट (Market)  में पावरग्रिड (Power greed) कॉर्पोरेशन सबसे बड़ी कंपनी (Company)  है, वहीं भारत (India)  में 15 और ब्राजील (Brazil) में 10 प्रोजेक्ट (Project) की मालिक स्टरलाइट (Satellite)  पावर 31.5% मार्केट शेयर (Market Share) के साथ दूसरे नंबर (Number) पर है। पिछले महीने (Months) ही कंपनी (Company) को एक प्रोजेक्ट (Project) के लिए 580 करोड़ रुपये का फंड (Fund) मिला था।

अनलिस्टेड (Unlisted) मार्केट में ट्रेडिंग (Treding)

आप केवल डीलर (Dollar) के जरिए अनलिस्टेड शेयरों (Unlisted Share) में ट्रेड (Trade) कर सकते हैं। डीलर (Dillar) की भूमिका बायर-सेलर (Buyer-Seller)  के बीच एक फैसिलिटेटर की होती है। मिनिमम 25,000 रुपये आप शुरुआत कर सकते हैं. आपको अनलिस्टेड (Unlisted Share) शेयर्स का लॉट खरीदना होता है, जो डीलर (Dollar)  और स्क्रिप पर निर्भर (Depend) करता है।

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments