बच्ची का भूत | Baby Ghost Story | Horror Stories In Hindi

दोस्तों इस Baby Ghost Story को लास्ट तक जरुर पढ़ें क्यूंकि यह एक बहुत दिलचस्प और सच्ची डरावनी स्टोरी है | मुझे आशा है कि की आपको यह बच्ची का भूत | Baby Ghost Story | Horror Stories In Hindi जुरूर पसंद आएगा |

यह मेरे पड़ोसी के बच्चे की कहानी (Baby Ghost Story) है। उसका नाम राशि था, वह 4 साल की प्यारी सी बच्ची थी और उस समय, मैं 18 साल की किशोर थी और छोटे बच्चों की बहुत लाड़ली थी।

मैं अपने खाली टाइम के दौरान उसके साथ खेलती थी और साथ ही उसे नए Word भी सिखाया करती थी, क्योंकि उसने अभी बोलना शुरू ही किया था, इसलिए उसके साथ रहना बहुत मजेदार (Funny) था।

इसे भी पढ़ें:- Shmashaan Ghaat Ki Kahani | श्मशान घाट की कहानी

यह ऐसा था जैसे हम दोनों ने एक मेलभाव विकसित कर लिया हो, और जब भी मैं उसे देखती थी उसका नाम पुकारती थी और वह स्माइल करते हुए मेरे पास आ जाती थी।

राशि हमारे घर ज्यादातर आती थी। लेकिन किसी Bimari के कारण राशि बीमार पड़ने लगी और एक दिन वह यह Duniya छोड़ के चली गई।

यह घटना सबका दिल तोड़ने वाला था। राशि के कारण जहाँ हमारे पड़ोस में हंसमुख माहौल (Cheerful Atmosphere) होता था, अब वहां सिर्फ उदासी छाई रहती थी।

राशि की Death के एक सप्ताह के बाद की बात है, मैं लेट नाईट, अपने फ्रेंड के पास से लौट कर घर आ रही थी। मैं अपने घर का डोर खटखटा कर रही थी, मुझे अंदर से बहुत डर लग रहा था।

इसे भी पढ़ें:- भूत की कहानी | Real Horror Story In Hindi | Ghost Story

मुझे लगा कि कोई मेरे पीछे खड़ा है और जब मैं पलटी, तो Red Frock में एक बच्ची को देखकर चौंक गयी, वह बच्ची मुझे देख कर स्माइल की और वह बंद दरवाजे को क्रॉस कर राशि के घर में चली गयी।

मैं चौंक गयी और डर से पसीना आने लगा।

अगली नाईट जब मैं सोने जा रही थी, मैंने अपने कमरे की विंडो खोली और अपने पड़ोसी के गार्डन के तरफ देखने लगी, मैं गार्डन में घूम रहे बच्ची (Baby Ghost Story) को देखकर चौंक गयी और इसने भी Red color का Frock पहन रखा था।

उस नाईट मैं बिलकुल नहीं सो पायी। मैं ही क्यों बच्चे और उसकी परछाई (Shadow) को देख पा रही थी यह विचार मुझे अंदर ही अंदर खाए जा रही थी।

इसे भी पढ़ें:- घर मे क्लेश, भूत प्रेत की छाया, काम न बनना

इवनिंग को मैं अपने पड़ोसी के घर गयी और वहां सारी बातें बताई।

राशि की माँ की आँखें आँसू से भर गयी और उसके पिताजी बहुत उदास हो गये।

राशि के पापा ने भी उस बच्ची (Baby) को देखा था, लेकिन उन्होंने सोचा कि यह सिर्फ उनका भ्रम है। बच्चे के पिता नहीं चाहते थे कि उनकी बेटी की आत्मा (Aatma) जीवन और मृत्यु के बीच में फसी रहे।

बाद में इस तरह की Ghatanaen कई लोगों के साथ नाईट में हुईं।

कुछ दिनों बाद घर में एक Pujari को बुलाया गया और Pujari द्वारा कुछ अनुष्ठान किए गए और पूरे घर को पवित्र किया गया।

उस अनुष्ठान वाली नाईट, ऑल एरिया मैं एक गजब सा शांति और मौन था।

उस घटना के बाद उस बच्ची (Baby Ghost Story) को फिर कभी किसी ने नहीं देखा।

इसे भी पढ़ें:- भूतिया कमरा | Horror Stories in Hindi | Ghost Story