Sunday, July 3, 2022
Homeघोस्ट स्टोरीभूतिया कमरा | Horror Stories in Hindi | Ghost Story

भूतिया कमरा | Horror Stories in Hindi | Ghost Story

दोस्तों यह Horror Stories in Hindi एक छोटे से लड़के की है, जो एक नये घर में रहने को जाता है और उसके साथ कुछ भयानक होता है और उसे असाधारण बातें Face करनी पड़ती है | फ्रेंड्स हमें आशा है कि आपको ये Horror Stories in Hindi जरुर पसंद आएगा |

जब मैं 15 साल का था, तो हमलोग दक्षिण भारत के तमिलनाडु से हिमालय के गोद कहे जाने वाले Himachal Pradesh में रहने चले गए।

यह एक बहुत ही साफ सुथरा, ब्यूटीफुल सा गाँव था और हमारा घर काफी अच्छा था | हालांकि यहाँ का मौसम बहुत ही ठंडा था। सर्दियों में खिड़की पर,घर के बाहर, छत पर बर्फ जम जाती थी।

शुरू में हमें यहाँ सबकुछ ठीक लग रहा था। लेकिन कुछ महीने बीत जाने के बाद कुछ कुछ अजीब सा होने लगा |

अपने अपने Households के Items ख़राब होने लगे। Washing Machine से रोज घर में Flood जैसा महौल रहने लगा, Fridge ख़राब हो गया, Cooker का फट जाना, Electrical Items ख़राब हो गए और हमे इस तरह की छोटी मोटी अनगिनत प्रॉब्लम्स का रोज फेस करना पड़ता था |

मेरा बड़ा भाई हमारे साथ नहीं रहता था | वह घर से बाहर दुसरे City में काम करता था, और कल वह घर वापस आ रहा था | मैंने उसके कमरे को अपने से साफ कर दिया , इसका मतलब यह था कि मैं उसके Room में रह रहा था | मेरे भाई को यह बिलकुल पसंद नहीं था की कोई उसके कमरे में जाये और मैं तो उसके ही कमरे में महीनो से सो रहा था।

मैंने उस दिन अपना Room बदल लिया और घर के एक कोने में खाली पड़े Room में अपना सारा सामान Sift कर दिया | उस रात मैं जल्दी Bed पर चला गया, और रोज की तरह आज भी Bed पे लेटे हुए एक Interesting Novella पढ़ रहा था। थोड़ी देर बाद मुझे नींद आने लगी, सो मैं Room की Light को Off कर दिया |

थोड़ी देर बाद मुझे मेरे रूम में किसी की चलने की आवाज आयी। यह बहुत तेजी से चलने की आवाज थी और साथ ही, मुझे ऐसा लग रहा था की जैसे एक मोटा भेड़ का बच्चा अपने आप को Carpet पर रगड़ रहा हो | मेरे Room के Floor पर Carpet बिछा था, और यह रगड़ने की आवाज वहीँ से आ रही थी। मैं तुरंत रूम की Light को On कर दिया और लाइट On होते ही शोर बंद हो गया। तभी मैं बेडरूम की विंडो को देखा, बाहर बारिश हो रही थी पर मैं जब विंडो के पास पहुंचा तो देखा की बारिश नहीं हो रही है, लेकिन मुझे अभी भी बारिश की आवाज सुनाई दे रही थी।

हर बार मेरे Light On करने पर, आवाज आना शुरू हो जाता था। जब भी मैंने Light On की, तो यह बंद हो गया। यह शुरु के कुछ घंटों तक चला और फिर मैं पूरी रात लाइट ऑन करके सोया।

मैंने उस टाइम अपने किसी भी परिवार के सदस्य को इसके बारे में नहीं बताया, क्योंकि मुझे नहीं लगता था कि वे मुझ पर विश्वास करेंगे।

कुछ दिनों के बाद एक दिन, मेरे कुछ दोस्त मेरे घर आए, और उस दिन घर पर मेरे अलावा सिर्फ मेरा भाई था, जो की रसोई में कुछ पका रहा था।

मैंने अपने दोस्तों को उस रात हुए, उस घटना के बारे में बताया, और उन्होंने मुझे एक साधु के पास जाने का सलाह दिया।

उस दिन हम भूत बुलाने वाला खेल खेलने जा रहे थे, सो मैंने विंडो के कर्टन को खीच दिया, और एक Coffee Table के Center में एक Glass रखा, और फिर हमने पूछना शुरू किया कि जैसे की – क्या कोई वहां है – Weather से Related सवाल। तभी हमने सीढ़ियों से किसी के नीचे आने की आवाज सुनी, और फिर देखते ही देखते लाउंज का दरवाजा एक झटके में खुल गया।

मैं अपने दोस्तों के साथ Kitchen में गया जहाँ मेरा भाई कुछ Cook कर रहा था | हमें ऐसा महसूस हुआ था जैसे की मेरा भाई जान बुझ कर हमें डरा रहा था, लेकिन वह तो Kitchen में अपना काम कर रहा था | फिर हम दिन भर Lounge में वापस नहीं गए।

उसके दिन के बाद, यहाँ इस तरह की Incident हर दिन होने लगी। कुछ दिन बाद हालात और भी बदतर हो गएँ | हमारे सामान गायब होने लगे और खोये हुए सामान केवल Strange जगहों पर मिलते थे | मेरा भाई हमेशा अपने Bed पर Change छोड़ देता था, और एक दिन वहां उसके Bed पर एक भी पैसा नहीं मिला। कुछ दिनों बाद वह चेंज, उसके ही रूम में सजावट के लिए लटके लैम्ब के मुँह से मिला ।

इसे भी पढ़ें:- भूत की कहानी | Real Horror Story In Hindi | Ghost Story

मुझे हमेशा ऐसा लगता था कि जैसे कोई मेरे आस-पास है, और मुझे उसका साया भी दिखता था। यह सब कुछ ऐसा था जैसे कोई हमे वहां नहीं रहने देना चाहता था |

आख़िरकार इस Horror Stories in Hindi को खत्म करने के लिए, हम उस घर को छोड़ कर जाने लगे | जिस दिन हम जा रहे थे, हमारे एक Neighbors ने हमें बताया कि – यहाँ पहले रहने वाले एक रेंटर ने सीढ़ियों से लटक कर सुसाइड कर लिया था |

मैं इस Horror Stories in Hindi को जनता था – हमसे पहले रहने वाले Ranter का आर्थिक और Medical परिस्थिति ठीक नहीं था और इन सब से तंग आकर वह सुसाइड कर लिया |

कुछ दिन पहले मैं अपने बेटे को वही घर को दिखाने ले गया था। मुझे उस समय, उन दिनों की सारी बातें फिर से मेरे आँखों के सामने आ गयी और यह घर अभी भी पहले जैसा ही लग रहा था | मैं यहाँ फिर से रहना चाहूँगा, सिर्फ यह देखने के लिए कि क्या यहाँ अभी भी वैसा ही कुछ है जो आज से 20 साल पहले हुआ करता था |

इसे भी पढ़ें:- जीवनसाथी के साथ अच्छे पल कैसे बितायें

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments