Friday, December 2, 2022
Homeस्वास्थ्य और तंदुरुस्तीपपीता खाने के फायदे और नुकसान | Benefits and Side Effects of...

पपीता खाने के फायदे और नुकसान | Benefits and Side Effects of Papaya In Hindi

पपीता खाने के फायदे | Papita Khane Ke Fayde

रोज खाली पेट पपीता (Papaya) खाने के अनोखे लाभ (Benefits) के बारे में बताने जा रहे हैं जिसे जानकर आप जरूर हैरान (Astonished) रह जाएंगे। तो आईये आपको बताते हैं की खाली पेट (Empty Stomach) पपीता (Papita) खाने से शरीर (Body) पर इसका क्या असर पड़ता है।

इसे भी पढ़ें:- टमाटर खाने के फायदे और नुकसान

पपीता (Papaya) पेट साफ (Clean Stomach) करता है। पाचन तंत्र (Digestive System) को ताकत देता है। छोटे बच्चे (Small Children) जिनका पेट खराब (Stomach Upset) रहता है, उन्हें पपीता (Papita) खिलाना चाहिए। बिस्कुट (Biscuits) नहीं देना चाहिए क्योंकि इसमें मैदा (Flour) होती है जो कब्ज (Constipation) का कारण बनती है।

Papita Khane Ke Fayde
Papita Khane Ke Fayde

 

पपीता (Papaya) में काफी मात्र में फाइबर (Fiber) पाया जाता है जो शरीर (Body) में मौजूद बैड कोलेस्ट्रोल (Bad Cholesterol) की मात्रा को कण्ट्रोल (Control) करता है। अगर नियमित (Regular) रूप से रोज आप पपीता का सेवन (Papaya Intake) करें तो इससे शरीर (Body) में मौजूद कोलेस्ट्रोल (Cholesterol) की मात्रा को नियंत्रित (Control) किया जा सकता है और बढे हुए कोलेस्ट्रोल को कण्ट्रोल (Cholesterol Control) किया जा सकता है।

इसे भी पढ़ें:- गाजर के गुण और उससे होने वाले फायदे व नुकसान

सबसे पहले तो आपको बता दें कि पका हुआ पपीता (Ripe Papaya) खाना मोटापे (Obesity) से परेशान लोगों के लिए फायदेमंद (Benefits and Side Effects of Papaya In Hindi)  होता है। रोज सुबह खाली पेट (Empty Etomach) पका हुआ पपीता (Papita) या पपीते का जूस (Papaya Juice) पीने से शरीर (Body) की अतिरिक्त चर्बी (Excess Fat) कम होती है। और वजन कम (Weight Lose) करने में सहायता मिलती है।

इसे भी पढ़ें:- हल्दी के चमत्कारी फायदे और नुकसान

1. पपीता के फायदे कोलेस्ट्रॉल कम करन में सहायक | Papaya Lowering Cholesterol in Hindi

पपीते (Papita) में उच्च मात्रा में फाइबर (High amount of fiber) मौजूद होता है. साथ ही ये विटामिन सी (Vitamin C) और एंटीऑक्सीडेंट्स (Antioxidants) से भी भरपूर होता है| अपने इन्हीं गुणों (Qualities) के चलते ये कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित (Cholesterol control) करने में काफी असरदार है|

2. पपीता के फायदे वजन घटाने में | Papaya For Weight Loss in Hindi

एक मध्यम आकार के पपीते (Papaya) में 120 कैलोरी (Calorie) होती है. ऐसे में अगर आप वजन घटाने (Reduce Weight) की बात सोच रहे हैं तो अपनी डाइट (Diet) में पपीते (Papita) को जरूर शामिल करें. इसमें मौजूद फाइबर्स (Fibers) वजन घटाने (Reduce Weight) में मददगार होते हैं|

इसे भी पढ़ें:- जानिए क्या हैं कॉफी पीने के फायदे और नुकसान

3. पपीता के फायदे  रोग प्रतिरक्षा क्षमता बढ़ाने में | Papaya For Disease Immunity in Hindi

रोग प्रतिरक्षा क्षमता (Disease Immunity) अच्छी हो तो बीमारियां (Diseases) दूर रहती हैं. पपीता (Papaya) आपके शरीर (Body) के लिए आवश्यक विटामिन सी (Vitamin C) की मांग को पूरा करता है. ऐसे में अगर आप हर रोज (Daily) कुछ मात्रा में पपीता (Papita) खाते हैं तो आपके बीमार होने की आशंका (Fear of getting sick) कम हो जाएगी.

इसे भी पढ़ें:- दूध पीने के फायदे और नुकसान

4. पपीता के फायदे आंखों की रोशनी बढ़ाने में | Papaya For Increasing Eyesight In Hindi

पपीते (Papaya) में विटामिन सी (Vitamin C) तो भरपूर होता ही है साथ ही विटामिन ए (Vitamin A) भी पर्याप्त मात्रा में होता है. विटामिन ए (Vitamin A) आंखों की रोशनी (Eyesight) बढ़ाने के साथ ही बढ़ती उम्र (Growing Age) से जुड़ी कई समस्याओं के समाधान (Solutions to Problems) में भी कारगर है.

इसे भी पढ़ें:- प्याज के चौंका देने वाले फायदे

5. पपीता के फायदे पाचन तंत्र को सक्रिय रखने में | Papaya For Digestive System In Hindi

पपीते (Papaya) के सेवन से पाचन तंत्र (Digestive System) भी सक्रिय रहता है. पपीते (Papite) में कई पाचक एंजाइम (Digestive Enzymes) होते हैं. साथ ही इसमें कई डाइट्री फाइबर्स (Dietary fibers) भी होते हैं जिसकी वजह से पाचन क्रिया (Digestion Process) सही रहती है.

इसे भी पढ़ें:- लहसुन खाने के फायदे और नुकसान

6. पपीता के फायदे पीरियड्स के दौरान होने वाले दर्द में | Papaya For Pain During Periods in Hindi

जिन महिलाओं (Women) को पीरियड्स (Periods) के दौरान दर्द (Pain) की शिकायत होती है उन्हें पपीते का सेवन (Intake of Papaya) करना चाहिए. पपीते के सेवन (Intake of Papaya) से एक ओर जहां पीरियड साइकिल (Period Cycle) नियमित रहता है वहीं दर्द (Pain) में भी आराम मिलता है.

इसे भी पढ़ें:- ज्यादा पानी पीने के तरीके और उससे होने वाले फायदे

पपीते खाने के नुकसान | Papita Khane ke Nuksan

हालांकि पपीता (Papita) खाने के कई फायदे (Benefits) हैं, लेकिन पपीता के कुछ दुष्प्रभाव (Benefits and Side Effects of Papaya In Hindi) और उनके उपयोग से सम्बंधित कुछ चेतावनियां भी हैं। यह विशेष रूप से हरे पपीते (Green papaya), पपीते के बीज (Papaya Seeds), पपीते के पत्ते (Papaya Leaves) और पपीन एंजाइम (Papine Enzyme) के प्रयोग से सम्बंधित है। तो आइये हम भी पपीते के कुछ साइड-इफेक्ट्स (Benefits and Side Effects of Papaya In Hindi) के ऊपर नज़र डालें, ताकि ना केवल हम पपीते के उन दुष्प्रभावों (Side Effects of Papaya) से बच सके अपितु पपीते के स्वास्थ्य लाभ (Health Benefits of Papaya) का आनंद भी सही प्रकार से ले सकें:-

Papita Khane ke Nuksan
Papita Khane ke Nuksan

 

  • लेटेक्स (Latex) की उपस्थिति के कारण, पपीता (Papaya) गर्भाशय के संकुचन का कारक (Uterine Contraction Factor) बन सकता है, जिससे गर्भपात (Abortion), समय से पहले प्रसव दर्द (Labor Pains), शिशु में असामान्यताएं (Baby Abnormalities) और यहां तक कि बच्चा मरा (Baby died) हुआ भी पैदा हो सकता है। अतः गर्भावस्था के दौरान (Pregnancy Time) सख्ती से पपीते का सेवन (Papaya Intake) नहीं करना चाहिए।

इसे भी पढ़ें:- जानिए करेले से होने वाले फायदे

  • स्तनपान (Feeding The Beast) करा रही माताओं (Mothers) को भी पपीते का सेवन (Intake of papaya) डॉक्टर से परामर्श (Consult a Doctor) करने के बाद ही करना चाहिए।
  • यदि उच्च मात्रा में पपीते का सेवन (Intake of papaya) किया जाये तो पपीता (Papita) में बीटा कैरोटीन (Beta Carotene) की उपस्थिति त्वचा की मलिनीकरण (Skin Discoloration) का कारण हो सकती है, जिसे चिकित्सकीय रूप से कैरोटीनमिया (Carotenemia) कहा जाता है। यह एक ऐसी स्थिति है, जिसमें आपकी आंखों (Eyes), तलवों (Soles) और हथेलियां (Palms) का रंग पीला (Yellow Color) हो जाता है, जैसे कि आप पीलिया (Jaundice) से ग्रस्त हों।
  • पपेन (Pappen), पपीता (Papaya) में मौजूद एंजाइम (Enzyme), एक शक्तिशाली एलर्जीन (Powerful Allergen) है। अतः पपीता (Papaya) के अत्यधिक सेवन से नाक में कंजेशन (Nose Congestion), घरघराहट (Wheezing), हाई फीवर (High fever), दमा (Asthma) आदि जैसे विभिन्न श्वसन विकार (Respiratory Disorder) आपके शरीर (Body) को अपना शिकार (Prey) बना सकते हैं।
  • पपीता (Papaya) का अत्यधिक सेवन गुर्दे की पथरी (Kidney Stone) का कारण बन सकता है।
  • बहुत अधिक पपीता (Papita) खाने से गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल सिस्टम में समस्या (Gastrointestinal system problems) उत्पन्न हो सकती है, जिससे कि आपको ब्लोटिंग (Bloating), पेट-दर्द (Stomach Pain), उबकन (Stew) आदि परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है।
  • जो लोग रक्त पतला (Blood thinner) करने वाली दवाइयों का सेवन (Prescription drugs) करते हैं, उन्हें भी पपीते के सेवन (Intake of Papeeta) का नहीं करना चाहिए।
  • पपीते का सेवन (Intake of Papaya) एक साल से कम उम्र वाले शिशुओं (Babies) के लिए उपयुक्त नहीं है।
  • दस्त से पीड़ित (Suffering from Diarrhea) होने पर पपीते के सेवन (Intake of Papaya) नहीं करना चाहिए।

इसे भी पढ़ें:- गुड़ खाने के फायदे और नुकसान

  • वैसे तो पपीता (Papaya) कब्ज का प्राकृतिक उपचार (Natural treatment of constipation) है, परंतु यदि इसका सेवन अधिकतम मात्रा में किया जाएं तो इसका प्रभाव विपरीत (Opposite Effect) भी पड़ सकता है।
  • पपीता (Papeeta) प्रकृति (Nature) का मनुष्य (Humans) के लिए एक अद्भुत उपहार (Wonderful Gift) है। हालांकि, यदि इसका इस्तेमाल (Use) सही से नहीं किया जाए तो यह ऊपरलिखित दुष्प्रभावों (Side Effects) का मूल कारण (Main Cause) बन सकता है।
RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments