Tuesday, October 27, 2020
Home व्यवसाय जीएसटी क्या है? - What is GST in Hindi

जीएसटी क्या है? – What is GST in Hindi

जीएसटी क्या है? (GST Kya Hai)

दोस्तों जीएसटी क्या है? – What is GST in Hindi- जीएसटी (GST), यानि वस्तु एवं सेवा कर (Goods And Service Tax ) एक अप्रत्यक्ष कर (Indirect Tax) है जिसने कई केंद्रीय और राज्य करों (Central and State Taxes) जैसे उत्पाद शुल्क (Excise duty), वैट और सेवा कर (VAT and Service Tax) को बदल दिया है। यह भारत (India) में उत्पादित सभी वस्तुओं और सेवाओं (Goods and Services Produced) के साथ-साथ अन्य देशों (Countries) से आयातित (Imported) एक भी व्यापक कर (Comprehensive Tax) है। हमारे देश में 3 अगस्त 2016 को जीएसटी बिल (GST Bill) पास किया गया जीएसटी Goods & Service Tax है जिसका मतलब वस्तु एवं सेवा कर (GST) है सरकार (Government) ने जीएसटी (GST) को 1 जुलाई 2017 को देश भर में लागु कर दिया था

जीएसटी का इतिहास (History of GST in Hindi)

दुनिया भर के कई देशों (Many Countries) ने पहले ही जीएसटी (GST) लागू कर दिया है। कुछ नाम – ऑस्ट्रेलिया (Australia) ने वर्ष 2000 में जीएसटी (GST) के साथ संघीय थोक (Federal Wholesale) कर की जगह ली, कनाडा (Canada) ने वर्ष 1991 में जीएसटी (g s t) के साथ निर्माता (Creator) के बिक्री कर (Sales Tax) की जगह ले ली और न्यूजीलैंड (New zealand) ने वर्ष 1986 में GST के साथ कुछ वस्तुओं और सेवाओं (Goods and Services) के लिए अपने बिक्री कर (Sales Tax) को बदल दिया। भारत लाल टेप में कटौती (India cut red tape) करने और कर राजस्व (Tax Revenue) बढ़ाने के लिए 2017 में अपनी दोहरी(Dual) जीएसटी प्रणाली (GST system) – एक केंद्रीय वस्तु और सेवा कर-Central Goods and Services Tax (CGST) और एक राज्य माल और सेवा कर-State Goods and Services Tax (SGST) को लागू किया, जिससे आर्थिक विकास (Economic Development) को बढ़ावा मिलेगा।

इसे भी पढ़े:- इनकम टैक्स क्या है? (Income Tax Kya Hai)

सरकार (Government) ने वर्ष 2000 में जीएसटी (gov gst in) पर बातचीत शुरू की और पश्चिम बंगाल सरकार (Government of West Bengal) के वित्त मंत्री असीम दासगुप्ता (Finance Minister Aseem Dasgupta) की अध्यक्षता (Presided over) में एक समिति का गठन (Organizing Committee) किया। 2006-07 के बजट (Budget) में समिति (Committee) को जीएसटी मॉडल (GST Model) को डिजाइन करने और इसके रोलआउट (Roll Out) के लिए आईटी बैक-एंड (IT Back-End) तैयारियों का प्रबंधन (Management of Preparations) करने की जिम्मेदारी (Responsibility) दी गई थी।, केंद्रीय वित्त मंत्री श्री पी चिदंबरम (Union Finance Minister Mr. P. Chidambaram) ने 1 अप्रैल, 2010 तक माल और सेवा कर (GST) को लागू (Applicable) करने का प्रस्ताव (Proposal) रखा। राज्य के वित्त मंत्रियों की समिति (Committee of State Finance Ministers) ने हालांकि, नवंबर, 2009 में कर व्यवस्था (Arrangement) पर अपना पहला चर्चा पत्र (Discussion Paper) जारी किया। नई कर व्यवस्था (New Tax Regime) आखिरकार 1 जुलाई, 2017 को लागू (Applicable) हुई। जीएसटी विधेयक (GST Bill) को आधिकारिक रूप से संविधान-Constitution (एक सौ बीस दूसरा संशोधन) अधिनियम (Act), 2016 के रूप में जाना जाता है। इस विधेयक का उद्देश्य एकीकृत कर बाजार (Bill aims to integrate markets) बनाना है और ज्यादातर अप्रत्यक्ष कर (Indirect Tax) जैसे कि सेवा कर (Service Tex), केंद्रीय उत्पाद शुल्क (Central excise), वैट (VAT), मनोरंजन (Entertainment), विलासिता (Luxury), लाटरी टैक्स ( Lottery Tax), माल और सेवाओं (Goods and Services) और सरचार्ज (Surcharge) आदि पर लगाए गए उपकर (Sub Tax), एक एकल एकीकृत कर (Single Unified Tax) में शामिल किया गया।

इसे भी पढ़े:- गूगल के बारे में रोचक जानकारी और तथ्य (Interesting information and facts about Google)

जीएसटी बिल क्या है? (What is GST Bill in Hindi)

जीएसटी (GST) एक समान अप्रत्यक्ष कर(Same Indirect Tax) है, जो किसी देश (Country) में उत्पादित और आयात (Produced and Imported) की जाने वाली वस्तुओं और सेवाओं (goods and services) पर लगाया जाता है। भारत (India) में चार जीएसटी दर संरचना (GST Rate Structure) है – 5%, 12%, 18% और 28%।

What is GST Bill in Hindi

राज्य कर(State Tax) जीएसटी (GST) ने विज्ञापनों (Advertisements), मनोरंजन (Entertainment) और मनोरंजन कर (Entertainment Tax) और लक्जरी टैक्स (Luxury Tax) पर कर (Tax) लगा दिया है। केंद्रीय कर (Central Tax) जीएसटी (GST) ने सेवा कर (Service Tax), केंद्रीय उत्पाद शुल्क (Central Excise) और उत्पाद शुल्क (Excise duty) के अतिरिक्त कर्तव्यों (Duties) को दूसरों के बीच में रखा है। जीएसटी (GST) के कार्यान्वयन(Implementation) के पीछे प्राथमिक उद्देश्यों (Primary objectives) में से एक कर (Tax) के कैस्केडिंग प्रभावों (Cascading Effects) को समाप्त करना है।

जीएसटी की क्या जरूरत थी-What was the need of GST in Hindi

भारत (India) में कर ढांचा बहुत ही जटिल (Framework too complex) था भारत के संविधान के अनुसार (According to the constitution of India) वस्तु की बिक्री पर कर (Tax on sale of goods) राज्य सरकार एवं वस्तु के उत्पादन (State Government and Production of Goods) पर कर (Tax) लगाने का अधिकार केंद्र सरकार (Central Government) को था इस कारण देश (Country) में अलग अलग स्टेट (State) में अलग कानून (Law) थे जिस कारण कर प्रणाली (Tax System) अत्यधिक जटिल (Complex) हो गई थी

इसे भी पढ़े:- ऑनलाइन मार्केटिंग क्या है और कैसे करें (What is Online Marketing and how to do)

जीएसटी बिल की मुख्य बातें (Highlights of GST Bill in Hindi)

इस बिल (Bill) के अंतर्गत टैक्स (Tax) को मुख्य रूप से दो भागो में विभाजित किया जायेगा

  1. CGST (Central Goods and Service Tax)  – केंद्रीय जीएसटी-Central GST
  2. SGST (State Goods and Service Tax)  – राजकीय जीएसटी-State GST

टैक्स (Tax) को मुख्य रूप से केंद्र और राज्य सरकार (Central and State Government) के बीच में बराबर विभाजित किया जाता है इस समय जीएसटी (g s t) के अंतर्गत मुख्य रूप से 4 टैक्स स्लैब (Tax Slab) है जो क्रमश 5%, 12%,18%,एवं 28% है

जीएसटी  के बारे में तथ्य (Facts about GST in Hindi)

1. दुनिया (World) में सबसे पहले जीएसटी (GST) फ्रांस (France) में 1954 में लागु हुआ था

2. भारत (India) में सबसे पहले जीएसटी का मुद्दा (GST Issue) अटल बिहारी वाजपेयी (Atal Bihari Bajpayee) जी की सरकार (Government) में उठा था

3. जीएसटी (GST) की पहली कॉउन्सिल कमेटी के हेड असीमदास गुप्ता (Aseemdas Gupta, head of council committee) थे

4. जीएसटी (GST) के रोल को सबसे पहले विजय केलकर (Vijay Kelkar) ने पेश किया

5. जीएसटी (GST) के चेयरमैन अरुण जेटली (Chairman Arun Jaitley) है

6. स्वास्थ्य और शिक्षा (Health and Education) पर 0% जीएसटी (GST) है

7. जीएसटी (GST) सबसे पहले तेलंगाना (Telangana) में पास हुआ

8. जीएसटी (Telangana) सबसे पहले लागु करने वाला राज्य आसाम (Assam) है

जीएसटी के लाभ (Benefits of GST in Hindi)

जीएसटी (GST) कार्यान्वयन के प्रमुख लाभ निम्नानुसार हैं:

  • एक एकीकृत आम बाजार का निर्माण। (Build a unified common market)
  • कम छूट के साथ कर संरचना सरल। (Tax structure simplified with less exemption)
  • कर के प्रभाव को समाप्त करता है। उपभोक्ता को सस्ती दरों पर अंतिम उत्पाद मिलता है। (Eliminates the effects of tax. The consumer gets the final product at cheaper rates)
  • करदाताओं के पास एक साझा पोर्टल (GSTN) होगा। (Taxpayers will have a shared portal (GSTN))
  • एक पारदर्शी कर प्रशासन बनाने में मदद करता है। (Helps to create a transparent tax administration)
  • एसजीएसटी और आयीजीएसटी दरों में एकरूपता काफी हद तक कर चोरी को कम करती है। (The uniformity in SGST and IGST rates reduces tax evasion to a great extent.)
  • अन्य राज्यों से उत्पादन के लिए इनपुट सामान और सेवाएं खरीदना सस्ता हो जाता है। (It becomes cheaper to buy input goods and services for production from other states)
  • लंबे समय में अर्थव्यवस्था को बढ़ावा। वस्तुओं और सेवाओं की आपूर्ति और मांग में वृद्धि। (Boost economy in the long run. Increase in supply and demand for goods and services)

इसे भी पढ़े:- ऑनलाइन मार्केटिंग क्या है और कैसे करें (What is Online Marketing and how to do)

जीएसटी गणना (GST Calculation in Hindi)

जीएसटी (GST) जोड़ें:

जीएसटी (GST) राशि = (मूल लागत x GST%) / 100

शुद्ध मूल्य (Net Value) = मूल लागत + जीएसटी राशि

जीएसटी (GST) निकालें:

जीएसटी (GST) राशि = मूल लागत – [मूल लागत x {100 / (100 + GST%)}]

शुद्ध मूल्य (Net Value) = मूल लागत – जीएसटी राशि

इसे भी पढ़े:- बिना किसी Fees या Ad के व्हाट्सएप पैसे कैसे कमाता है (How to make WhatsApp money without Fees or Ad)?

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Square Foot Gardening | वर्ग फुट बागवानी क्या है?

वर्ग फुट बागवानी के लिए आपका मार्गदर्शक (Your Guide to Square Foot Gardening ) दशकों से बागवानी (Gardening) की दुनिया में यह एक चर्चा का...

किडनी खराब होने के शुरुआती लक्षण | Kidney Failure Symptoms

गुर्दे (किडनी) खराब होने के लक्षण (Kidney Kharab Hone ke Lakshan) किडनी (Kidney) हमारे शरीर में खून (Blood) साफ़ करने, हड्डियों (Bones) को मजबूत करने,...

अंकुरित चने खाने के फायदे (Benefits of Eating Sprouted Gram in Hindi)

अंकुरित चने खाने के चमत्कारिक फायदे (Ankurit Chane Khane ke Fayde) आपने अंकुरित अनाज (Sprouted grains) से होने वाले लाभ के बारे में जरूर सुना...

प्राकृतिक सौंदर्य पाने के घरेलू उपाय (Praktik Sondry Pane ke Gharelu Upay)

खूबसूरत एवं प्राकृतिक त्वचा पाने के घरेलू नुस्खे (Khoobsurat Evan Praakrtik Tvacha Pane ke Gharelu Nuskhe) खूबसूरत एवं प्राकृतिक त्वचा पाने के घरेलू नुस्खे (Khoobsurat...

Recent Comments