Sunday, July 3, 2022
Homeस्वास्थ्य और तंदुरुस्तीदिमाग अशांत होने की वजह से अगर नींद नही आती है, तो...

दिमाग अशांत होने की वजह से अगर नींद नही आती है, तो अपनाएं ये तरीके | If you do not Sleep due to Calm Mind, then follow these Methods

कई बार ऐसा होता है कि रात (Night) को सोने के लिए बिस्तर (Bed) पर लेट तो जाते हैं, लेकिन बहुत प्रयास के बावजूद नींद नहीं आती। ऐसा लगता है मानों दिमाग (Brain) में कई बातें चल रही हैं। मन (Mind) अशांत (Turbulent) है। मौजूदा समय में ज्यादातर लोग ऐसी स्थिति से जूझ रहे हैं। दरअसल अतिरिक्त काम का दवाब, देर रात (Night) तक काम करना, मोबाइल, लैपटॉप (Laptop) का ज्यादा इस्तेमाल करना नींद न आने की वजह हैं। ऐसा नहीं है कि इस समस्या से निपटा नहीं जा सकता। इसके लिए कुछ तरीकों को आजमाया (Tried) जा सकता है।

लिस्ट बनाएं – Create List

हाल में हुए एक अध्ययन से यह पता चला है कि रात (Night) के समय कर चुके कार्यों की लिस्‍ट (List) बनाने वाले लोगों की तुलना में अगले दिन की टू-डू-लिस्‍ट (क्या-क्‍या करना है) तैयार करने वाले लोग 9 मिनट जल्दी सोते हैं। इसलिए रात (Night) को सोने से पहले उन कामों की सूचि बनाएं जो आपको अगले दिन करने हैं। इससे यह पता चलता है कि आप अपने काम के प्रति सजग हैं। इससे आपको नींद भी जल्दी आती है। हालांकि ऐसा स्थाई (Permanent) रूप से नहीं होता। लेकिन इस तरह की आदत (Habit) अपनाने से आपके काम सहज तरीके से हो जाते हैं।

इसे भी पढ़े:-  खाने के तुरंत बाद इन चीजों का सेवन न करें, शरीर को होगा नुकसान

किताब पढ़ें – Read the Book

जब नींद न आए तो किताब (Book) पढ़ना भी एक अच्छा विकल्प हो सकता है। दरअसल दिमाग (Brain) को स्थिर करना बहुत मुश्किल होता है। लेकिन आप अपने दिमाग (Brain) को किसी और दिशा में मोड़ सकते  हैं। विशेषज्ञों का कहना है कि इन दिनों ज्यादातर लोग फोन (Phone), लैपटाॅप (Laptop) आदि में समय गुजार रहे हैं, इस वजह से नींद नहीं आती। अगर आपको रेग्युलर नींद (Regular sleep) न आने की समस्या नहीं है, तो ऐसे में किताब (Book) पढ़ें। किताब लेटे-लेटे पढ़ें। इससे नींद आने में मदद मिलेगी। महज 20 से 30 मिनट में आपको अच्छी नींद आ जाएगी। अगर ऐसा नहीं होता है तो बिस्तर (Bed) से उठ जाएं और तब तक किताब पढ़ें, जब तक नींद न आए।

ब्रीदिंग एक्सरसाइज करें – Do Breathing Exercises

जब मन (Mind) अस्थिर होता है, तो बहुत सी ऐसी बातें दिमाग (Brain) में घूमती हैं, जो सही नहीं है। इसलिए दिमाग (Brain) को स्थिर करने के लिए ब्रीदिंग अभ्यास (Excercise) करें।  इसके लिए धीरे-धीरे गहरी सांस लें और छोड़ें। इससे आपकी हृदयगति (Heart rate) भी कम हो जाती है। यह तब सही है जब आप किसी विषय को लेकर चिंता में हैं। इससे चिंता भी कम होती है। ऐसा आप लेटे-लेटे भी कर सकते हैं। इस दौरान कमरे (Rooms) की लाइट भी न जलांए। ब्रीदिंग (Breathing) अभ्यास (Excercise) के दौरान अपने एक हाथ को छाती के ऊपर रखें और एक हाथ को पेट (Stomach) के ऊपर। नाक (Nose) से सांस लेते हुए ध्यान रखें कि पेट (Stomach) फूलना चाहिए और जब सांस छोड़ें तो पेट (Stomach) अंदर की ओर जाना चाहिए। इस प्रक्रिया को कुछ देर तक दोहरएं। आपको कुछ ही देर में नींद आ जाएगी।

नींद न आने पर बिस्तर से उठ जाएं – Get up from bed when you can’t sleep

जब 20 से 25 मिनट तक बिस्तर (Bed) पर लेटे रहने के बावजूद नींद न आए तो बिस्तर पर लेटे न रहें। इससे आपका मन (Mind) और ज्यादा अशांत हो जाता है। इतना ही नहीं दिमाग (Brain) में बुरा (Negative) बातें घर करने लगती हैं। इसलिए 20 से 25 मिनट बाद बिस्तर से उठ जाएं। इस दौरान खाली बैठे न रहें। इसके बदले में (Instead) कुछ ऐसा करें, जो आपको अच्छा लगता है। लेकिन ऐसा कोई काम न करें, जिससे नींद न आए। हल्के-फुल्के काम करें।

मौजूदा जीवनशैली (lifestyle) की वजह से ज्यादातर लोग नींद नहीं आने की वजह से परेशान रहते हैं। हालाँकि यह कोई ऐसी समस्या नहीं है, जिससे निपटा न जा सके। इसके लिए अपने मन (Mind) को स्थिर रखें। मन (Mind) को स्थिर रखने के लिए यहां बताए गए कुछ तरीकों को आजमाएं। यकीन मानिए नींद न आने की समस्या (Problum) कम हो जाएगी।

इसे भी पढ़े:- डिप्रेशन क्या है – What is Depression

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments