Friday, July 1, 2022
Homeस्वास्थ्य और तंदुरुस्तीचमकती त्वचा (glowing skin) के लिए प्राणायाम | Pranayama for glowing skin

चमकती त्वचा (glowing skin) के लिए प्राणायाम | Pranayama for glowing skin

सुंदर, स्वस्थ त्वचा की चाहत हर किसी की होती है। वहीं इसके लिए कई तरह की क्रीम और दूसरे ब्यूटी प्रोडक्ट्स का इस्तेमाल किया जाता है। लेकिन इसका brunt कई बार लोगों को भुगतने को भी मजबूर होना पड़ता है, ऐसे में इस पोस्ट में ग्लोइंग स्किन (glowing skin) के लिए कारगर उपाय बताया है।

तनाव और हमारी खराब जीवनशैली समय से पहले चेहरे पर झुर्रियां आने का प्रमुख कारण है। तंबाकू, शराब, नशीले पदार्थ और तले हुए खाद्य पदार्थ सभी आपके स्वास्थ्य और त्वचा के लिए हानिकारक हैं। नतीजतन, पाचन प्रभावित होता है और विभिन्न प्रकार की हार्मोनल असामान्यताएं प्रकट होती हैं। यह खुद को मुंहासे, शुष्क और बेजान त्वचा के रूप में प्रकट करता है। हर कोई जानना चाहता है कि इस समस्या को दूर कर ग्लोइंग स्किन (glowing skin) कैसे बढ़ाई जाए। तो आइए जानते हैं ऐसे ही कुछ योगासनों के बारे में जो इसमें मदद कर सकते हैं।

इसे भी पढ़े

प्लेटलेट्स (platelets) बढ़ाने का घरेलु उपाय 

अपर लिप्स के बाल हटाने के घरेलू नुस्खे 

चमकती त्वचा के लिए प्राणायाम | Pranayama for glowing skin

हम प्राणायाम और ग्लोइंग स्किन (glowing skin) के लिए इसके लाभों के बारे में यहाँ विस्तार से जानेंगे। साथ ही, ध्यान रखें कि प्राणायाम के लगातार अभ्यास से आपको सुंदर त्वचा प्राप्त करने में मदद मिल सकती है, लेकिन यह त्वचा की समस्याओं का इलाज नहीं है।

1. कपालभाती | Kapalbhati

कपालभाति (Kapalbhati) प्राणायाम आपको ग्लोइंग स्किन (glowing skin) पाने में मदद कर सकता है। एक अध्ययन इस दावे का समर्थन करता है। बता दें कि कपालभाति (Kapalbhati) दो शब्दों का शब्द है। कपाल और भाटी शब्द ‘सिर’ और ‘चमक’ को दर्शाते हैं। अध्ययन के अनुसार कपालभाति प्राणायाम पूरे श्वसन तंत्र को शुद्ध करता है। यह त्वचा को स्वस्थ चमक देने में भी मदद कर सकता है।

2. अनुलोम विलोम | Anulom Antonym

अनुलोम विलोम को अपनी प्राणायाम दिनचर्या में शामिल करने से भी आप सुंदर त्वचा प्राप्त कर सकते हैं। अनुलोम विलोम वास्तव में एक प्रकार का प्राणायाम है जो शारीरिक और मानसिक ऊर्जा को संतुलित करने के लिए सांस का उपयोग करता है। यह शरीर को सही मात्रा में ऑक्सीजन (oxygen) देने के अलावा कार्बन डाइऑक्साइड (Carbon dioxide) को हटाने में मदद कर सकता है। इसके अलावा, यह प्राणायाम रक्त से विषाक्त पदार्थों को निकालने में मदद कर सकता है।

3. भस्त्रिका प्राणायाम | Bhastrika Pranayama

स्वस्थ त्वचा को बढ़ावा देने के लिए भस्त्रिका का प्रयोग प्राणायाम में भी किया जा सकता है। एक अध्ययन के अनुसार यह प्राणायाम श्वसन तंत्र को साफ और मजबूत करने के साथ-साथ शरीर से जहरीले रसायनों को निकालने में मदद कर सकता है। साथ ही, हमने उल्लेख किया है कि शरीर से विषाक्त पदार्थों से छुटकारा पाने से आपको युवा दिखने में मदद मिल सकती है। यही कारण है कि भस्त्रिका प्राणायाम को स्वस्थ रंगत बनाए रखने के लिए अच्छा माना जा सकता है।

4. सूर्यभेदी प्राणायाम | Suryabhedi Pranayama

एक अध्ययन के अनुसार, साँस लेने के व्यायाम आपको चमकदार त्वचा पाने में मदद कर सकते हैं। बता दें कि सूर्यभेदी प्राणायाम का संबंध श्वास से भी है, जिसमें नासिका छिद्र का प्रयोग वायु को भरने और छोड़ने के लिए किया जाता है। इस आधार पर, यह निष्कर्ष निकाला जा सकता है कि अपनी प्राणायाम दिनचर्या में सूर्यभेदी प्राणायाम का उपयोग करने से आपको चमकदार त्वचा प्राप्त करने में मदद मिल सकती है।

5. भ्रामरी प्राणायाम | Bhramari Pranayama

अध्ययन के अनुसार, प्राणायाम चेहरे की झुर्रियों को कम करने में मदद कर सकता है। इसके अलावा, प्राणायाम उम्र बढ़ने के प्रभाव को कम करने के साथ-साथ चेहरे की ग्लोइंग स्किन (glowing skin) और सुंदरता को बनाए रखने में मदद कर सकता है।

इसे भी पढ़े

वजन कम करने के लिए पपीते का उपयोग

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments