Friday, July 1, 2022
Homeकहानियाँरहस्यमयी दुल्हन की कहानी भाग-2 | Rahasyamayi Dulhan Part-2

रहस्यमयी दुल्हन की कहानी भाग-2 | Rahasyamayi Dulhan Part-2

रहस्यमयी दुल्हन की कहानी भाग-2 | Rahasyamayi Dulhan Part-2 Drama Story in Hindi रहस्यमयी दुल्हन-2 ये कहानी है।
पिछले पार्ट में अब तक आपने पढ़ा- अमृता अपने ससुराल (Laws House) में अपने पति रजत के साथ गृह प्रवेश (Home Entry) करती हैं जहां उसकी सास निर्मला उसका स्वागत (Welcome) करती हैं। उसके घर में आते ही कुछ आश्चर्यजनक घटनाएं शुरू हो जाती हैं। ससुराल (Laws House) की कुलपरंपरा के अनुसार अमृता अपने कमरे (Room) में अकेले ही रह रही होती हैं कि उसे अपने कमरें (Room) में एक और घूंघट वाली दुल्हन (Veil Bride) दिखाई देती हैं जो उसके आवाज़ देते ही वहाँ से भाग जाती हैं। उसका पीछा करते हुए अमृता को पता चलता है कि वह एक बहुमंजिला हवेली (Multi-Storey Mansion) में है जहां की हर एक मंजिल (Floor) हूबहू एक जैसी ही बनाई गई थी। वह यह देखकर चौक जाती हैं। उसे हवेली (Mansion) कुछ जानी पहचानी लग रही थीं। अब आगे-

” मैं यहां कैसे आई ? मैंने तो सीढ़ियां (Stairs) चढ़ी ही नहीं और जब मैं इस घर के बाहर खड़ी थी तो यह कोई हवेली (Mansion) नही बल्कि एक छोटा सा मकान (House) था लेकिन अब यहाँ पर एक हवेली (Mansion) हैं। यह सब क्या हो रहा है, मुझे कुछ समझ नहीं आ रहा है। मुझे यह जगह इतनी देखी हुई सी क्यों लग रही हैं ? ” अमृता ने खुद से ही पूछा।

इसे भी पढ़ें:- रहस्यमयी दुल्हन की कहानी भाग-1 | Rahasyamayi Dulhan Part-1

अमृता यह सब सोच ही रही थी कि उसे याद आया कि वह अपने ही जैसी किसी दुल्हन (Bride) का पीछा कर रही थीं। इतना याद आते ही उसने इधर उधर देखा लेकिन उसे वहां पर कोई दिखाई नहीं दिया। शायद जब अमृता हवेली (Mansion) को देखकर सोच में पड़ गई थी तभी अवसर पाकर वो वहाँ से भाग निकली थी।

अमृता उसे ढूंढने के लिए अपने कदम आगे बढ़ाने ही वाली थी कि तभी उसके पीछे से कोई उसके कंधे पर हाथ रख देता है। वह घबरा कर पीछे की ओर देखती हैं तो वहाँ उसकी सास निर्मला देवी खड़ी मुस्करा रही थी। उन्हें देखते ही अमृता सकपका जाती हैं और सिर पर पल्लू करने के लिए अपनी चुनरी (Chunari) पकड़ने के लिए हाथ पीछे करती हैं। तभी उसे याद आता है कि उस दुल्हन (Bride) का पीछा करने के चक्कर में वो ऐसे ही बाहर निकल आई थी। इतना ध्यान आते ही उसकी नजर झुक जाती हैं।

” यहाँ क्या कर रही हो बहुरानी (Bahurani)? ” निर्मला देवी तिरछी नजरो से देखते हुए पूछती है।

” माँजी मैने अपने कमरे (Room) में किसी और दुल्हन (Bride) को देखा था। मैने जैसे ही उससे बात करने की कोशिश की वो भागते हुए यहाँ आई थीं। ” इतना कहते हुए जब अमृता निर्मला देवी को पीछे मुड़कर वह जगह दिखाने की कोशिश करती हैं तो उसके आश्चर्य की कोई सीमा नही थी। उसने देखा कि वह किसी हवेली (Mansion) में नहीं बल्कि उसी छोटे से मकान (House) में खड़ी थी जिसमें वह कुछ देर पहले ही आई थी। वह मकान (House) के पिछले हिस्से में खड़ी थी। जो कुछ भी उसने अभी देखा था वहाँ वैसा कुछ भी नही था।

” क्या हुआ बहुरानी (Bahurani)? आप इतनी रात (Night) गए यहाँ पर क्या कर रही हैं? ” जैसे निर्मला देवी ने कुछ सुना ही नहीं था।

इसे भी पढ़ें:- Brahmarakshas Horror Story In Hindi | ब्रह्मराक्षस की कहानी

कुछ नही माँ जी बस थोड़ी गर्मी लग रही थी इसलिए यहां चली आई थी। माफ़ कीजिए (Sorry) माँजी, आगे से ऐसी गलती नहीं होगी।” अमृता (Rahasyamayi Dulhan Part-2) ने सिर झुका कर कहा। उसे समझ नही आ रहा था कि वो आगे और क्या कहे।

” ठीक है। यह तुम्हारी पहली गलती है इसलिए तुम्हें माफ कर देती हूँ लेकिन याद रहे, आइंदा ऐसी गलती दोबारा नहीं होनी चाहिए। आगे से तुम्हें जिस भी चीज की जरूरत होगी, तुम इनसे कहोगी। ” निर्मला देवी के इतना कहते ही एक बूढ़ी औरत (Old Women) लाठी का सहारा लेकर चलती हुई आगे आती हैं। उस बूढ़ी औरत ने काले रंग का लिबास पहन रखा था। उसके हाथों की खाल सिकुड़ कर उसकी हड्डियों से चिपक गई थी जिससे उनके बूढ़े होने का अंदाजा लगाया जा सकता था क्योंकि उन्होंने अपने चेहरे पर एक लंबा घूंघट (Long Veil) डाल रखा था। उनके हाथों की दसो उंगलियों में बड़े बड़े पत्थर अंगूठी के रूप में सजे हुए थे।

इसे भी पढ़ें:- भूत प्रेत और बाधा – Ghost and Obstacle In Hindi

” इनका नाम अचला है। इन्होंने वर्षों तक हमारे परिवार की सेवा (Family Service) की है और अभी भी कर रही हैं। आज से ये आपके साथ ही रहेंगी। चलिए अब अपने कमरे (Room) में चल कर आराम कीजिए। कल सुबह (Tomorrow Morning) बाकी की रस्में (Rituals) भी करनी है। जल्दी उठिएगा। ” इतना कहते हुए निर्मला देवी वापस कमरे (Room) की ओर मुड़ती है और चली जाती हैं। अमृता और अचला भी उनके पीछे चल पड़ते है तभी वो घूंघट वाली दुल्हन (Rahasyamayi Dulhan Part-2) उन्हें जाते हुए देख रही होती हैं।

 

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments