Wednesday, December 7, 2022
Homeस्वास्थ्य और तंदुरुस्तीशहद और दूध के फायदे और नुकसान | Advantages and disadvantages of...

शहद और दूध के फायदे और नुकसान | Advantages and disadvantages of honey and milk

छोटी-मोटी स्वास्थ्य समस्याओं के लिए, घरेलू उपचारों को लंबे समय से सबसे अच्छा विकल्प (Option) माना जाता रहा है। दूध और शहद (honey and milk) का मिश्रण (mix) ऐसा ही एक घरेलू उपचार है। शहद के साथ हल्दी वाले दूध का सेवन किया जा सकता है। हल्दी-दूध की रेसिपी में चीनी की जगह शहद को बदला जा सकता है। दूध, हल्दी और शहद सभी स्वास्थ्य लाभ प्रदान करते हैं। मोटापा, सुबह गुनगुने पानी (Warm water) में शहद (honey) मिलाकर पीने से मोटापा कम होता है, वहीं दूध में शहद मिलाकर पीने से मोटापा बढ़ता है।

नींबू के रस में शहद मिलाकर पीने से नींद अच्छी आती है। शहद किसी भी रूप में शरीर को कई स्वास्थ्य लाभ प्रदान करता है। शहद में फल ग्लूकोज (fruit glucose), आयरन (Iron), कैल्शियम (calcium), फॉस्फेट (Phosphate), सोडियम (sodium), क्लोरीन (chlorine), पोटेशियम (potassium) और मैग्नीशियम (magnesium) सभी विशेषताएं हैं जो शरीर को बैक्टीरिया (bacteria) से बचाने का काम करती हैं।

यह एंटीबायोटिक्स, और विटामिन बी में उच्च है। यह आपके स्वास्थ्य के लिए अच्छा है। शहद का उपयोग कई तरह की बीमारियों के इलाज के लिए भी किया जा सकता है। शहद आपको बेहतर देखने में मदद कर सकता है, और यह कफ (phlegm), अस्थमा (asthma) और उच्च रक्तचाप (high blood pressure) से छुटकारा पाने में भी आपकी मदद कर सकता है। आपने शायद हल्दी वाले दूध के फायदों के बारे में सुना होगा, लेकिन इस पोस्ट में हम दूध और शहद (honey and milk) के फायदों के बारे में चर्चा करेंगे। कि शहद और दूध एक साथ पिया जा सकता है या नहीं, तो हम आशा करते हैं कि इस post के अंत तक आपके प्रश्न (Question) का उत्तर मिल जाएगा।

विषय सूची

इसे भी पढ़े

आपके चेहरे पर आएगा पार्लर जैसा ग्‍लो , अपनाये ये घरेलू नुस्खे 

दूध के पौष्टिक तत्व

पौष्टिक तत्व मात्रा प्रति 100 ग्राम
कैल्शियम 113 मिलीग्राम
फास्फोरस 84 मिलीग्राम
प्रोटीन 3.15 ग्राम
विटामिन -ए 46 माइक्रोग्राम
विटामिन-डी 1.3 माइक्रोग्राम
मैग्नीशियम 10 मिलीग्राम
पोटेशियम 132 मिलीग्राम
फोलेट 5 माइक्रोग्राम

शहद के पौष्टिक तत्व

पौष्टिक तत्व मात्रा प्रति 100 ग्राम
कैल्शियम 6 मिलीग्राम
कार्बोहाइड्रेट 82.4 ग्राम
मैग्नीशियम 2 मिलीग्राम
फास्फोरस 4 मिलीग्राम
पोटैशियम 52 मिलीग्राम
सोडियम 4 मिलीग्राम
फोलेट 2 माइक्रोग्राम

शहद और दूध के फायदे | benefits of honey and milk

हम आपको एक 6 अलग-अलग तरह के दूध और शहद के फायदों के बारे में बताने जा रहे हैं। हम इस जानकारी को कम से कम शब्दों में आसानी से आप तक पहुंचाने का हर संभव प्रयास करेंगे। दूध और शहद (honey and milk) के कुछ फायदे निम्नलिखित हैं:-

इसे भी पढ़े

सिर दर्द दूर करने के घरेलू उपचार

1 .अपनी नींद की गुणवत्ता में सुधार करें | Improve Your Sleep Quality

जब हम पर्याप्त नींद लेते हैं तो शरीर और दिमाग (body and mind) दोनों ही बेहतर तरीके से काम करते हैं। ऐसे में दूध में शहद मिलाकर पीने से आपको अच्छी नींद आने में मदद मिल सकती है। एक अध्ययन द्वारा supported है। इस अध्ययन में हृदय रोग के रोगियों को तीन दिनों तक दिन में दो बार दूध और शहद का मिश्रण (mix) दिया गया। इसका सेवन उनकी नींद की गुणवत्ता को बढ़ाने वाला पाया गया।

2. शहद और दूध के हड्डियों स्वास्थ्य लाभ | Bone Health Benefits of Honey and Milk

आपकी हड्डियों (bones) का स्वास्थ्य भी दूध के साथ शहद पीने के फायदों में से एक है। वास्तव में, कैल्शियम (calcium) हड्डियों (bones) के स्वास्थ्य को बनाए रखने के लिए एक महत्वपूर्ण पोषक तत्व है। दूसरी ओर दूध कैल्शियम (calcium) का अच्छा प्रदाता है। नतीजतन दूध हड्डियों के स्वास्थ्य के लिए अच्छा होता है । दूसरी ओर, शहद के एंटीऑक्सीडेंट (Antioxidants) और सूजन-रोधी प्रभाव हड्डियों के लिए फायदेमंद हो सकते हैं।

3. शहद और दूध के हृदय स्वास्थ्य लाभ | Heart Health Benefits of Honey and Milk

शरीर के अन्य हिस्सों के स्वास्थ्य की तरह हृदय (Heart) स्वास्थ्य को भी प्राथमिकता दी जानी चाहिए। ऐसे में शहद और दूध का सेवन दिल (Heart) के लिए अच्छा हो सकता है। एक अध्ययन के अनुसार, दूध पीने से इस्केमिक (ischemic) हृदय रोग और इस्केमिक स्ट्रोक (ischemic stroke) का खतरा कम हो सकता है।

4. फुर्ती के लिए शहद और दूध | Honey and milk for agility.

दूध और शहद का एक साथ सेवन करने से शरीर को ताकत और फुर्ती प्राप्त करने में मदद मिल सकती है। अध्ययन के अनुसार, आपके -वर्कआउट आहार में कम वसा वाले दूध को शामिल करना न केवल सुरक्षित है, बल्कि आपके स्वास्थ्य के लिए भी फायदेमंद है। दूसरी ओर, शहद में कार्ब्स (carbs) और अन्य पोषक (other nutrients) तत्व शामिल होते हैं जो शरीर के ऊर्जा उत्पादन में सहायता कर सकते हैं। शहद सीने में तकलीफ (problem), थकान (Tiredness) और चक्कर आना (Dizziness), अन्य बातों के अलावा में मदद (help) कर सकता है। ऐसी स्थिति में दूध में शहद मिलाकर शरीर को ऊर्जा और फुर्ती प्रदान करने में मदद मिल सकती है। दोनों में पोषक तत्व होते हैं जो शरीर के लिए फायदेमंद होते हैं।

5. त्वचा के लिए शहद और दूध | Honey and Milk for the Skin

प्राकृतिक और घरेलू नुस्खों से त्वचा की देखभाल की जाए तो त्वचा में निखार आता है। इन घरेलू उपचारों में दूध और शहद के मिश्रण का भी उपयोग किया जाता है। शहद से त्वचा को कई फायदे होते हैं, लेकिन जब इसमें दूध मिलाया जाता है तो शहद की गुणवत्ता (Quality) और भी बेहतर हो सकती है। दूध और शहद से बने फेस मॉइस्चराइजर पैक (face moisturizer pack) का इस्तेमाल किया जा सकता है। इस पैक को गुनगुने और ठंडे पानी (lukewarm and cold water) से धोने से पहले 15 मिनट तक सूखने दें।

6. बालों के लिए शहद और दूध | Honey and Milk for Hair

बालों की देखभाल के लिए दूध और शहद का भी इस्तेमाल किया जा सकता है। शहद में न सिर्फ बालों को कंडीशन (Condition) करने बल्कि उन्हें शाइन (shine) करने की भी क्षमता होती है। दूसरी ओर, दूध विभिन्न प्रकार के बालों के उत्पादों में पाया जाता है। दूध का प्रोटीन और कैसिइन (Protein and Casein) बालों को पोषण देने और उन्हें मजबूत बनाने में मदद कर सकता है। ऐसे में दूध में शहद मिलाकर बालों की गुणवत्ता (Quality) में सुधार किया जा सकता है|

शहद और दूध के नुकसान | Disadvantages of honey and milk

  • दूध और शहद (honey and milk) के कई फायदे हैं, लेकिन जिस तरह हर सिक्के के दो पहलू होते हैं, उसी तरह हर चीज के फायदे और नुकसान होते हैं। इसी को ध्यान में रखते हुए हम दूध में शहद के नुकसान (Harm) के बारे में जानकारी उपलब्ध करा रहे हैं।
  • शहद को कभी भी उबलते दूध में नहीं डालना चाहिए। आयुर्वेद के अनुसार शहद को पकाने से न सिर्फ उसकी पौष्टिकता (nutritional) कम होती है बल्कि वह जानलेवा भी हो जाता है।
  • अगर किसी को लैक्टोज (दूध में मौजूद चीनी) से एलर्जी है, तो उसे दूध पीने से बचना चाहिए। इसमें गैस और farts उत्पन्न करने की क्षमता है।
  • अगर किसी व्यक्ति को शहद से एलर्जी है, तो उसे दूध और शहद का मिश्रण पीने से बचना चाहिए। शहद एनाफिलेक्सिस (honey anaphylaxis) का कारण बन सकता है, जो एक जानलेवा एलर्जी प्रतिक्रिया है।
  • मधुमेह (Diabetes) के रोगियों को केवल चिकित्सकीय देखरेख में ही शहद का सेवन (intake) करना चाहिए, क्योंकि इसकी अधिक मात्रा रोग (Disease) को बढ़ा सकती है।

इसे भी पढ़े

दूध पीने के फायदे और नुकसान 

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments