Friday, July 1, 2022
Homeस्वास्थ्य और तंदुरुस्तीपनीर के फूल के फायदे और नुकसान | Advantages and disadvantages of...

पनीर के फूल के फायदे और नुकसान | Advantages and disadvantages of paneer flowers

ऐसे कई फूल हैं जो स्वास्थ्य लाभ प्रदान करते हुए प्रकृति की सुंदरता को बढ़ाते हैं। पनीर डोडा उनमें से एक है। पनीर के फूलों (paneer flowers) के औषधीय प्रभाव (pharmacological effect) असंख्य हैं। उनका उपयोग blood sugar को कम करने, अनिद्रा को कम करने और skin problem में सुधार करने के लिए किया जा सकता है।

पनीर और उससे बने व्यंजन तो लगभग सभी खाते हैं, लेकिन क्या आपने कभी पनीर के फूलों (paneer flowers) के बारे में सुना है? औषधीय (medicinal) गुणों के कारण पनीर के फूल का उपयोग चिकित्सा क्षेत्र (medical field) में कई विकारों (disorders) को रोकने के लिए किया जाता है। आप इस पोस्ट में जानेंगे कि पनीर ब्लॉसम क्या है। इसके अलावा, हम यहां पनीर ब्लॉसम के फायदे और नुकसान के बारे में विस्तार से जानेंगे।

इसे भी पढ़े

केसर के फायदे और नुकसान 

पनीर का फूल का अर्थ क्या है? What is the meaning of paneer flower?

पनीर ब्लॉसम का वैज्ञानिक नाम विथानिया कौयगुलांस (withania coagulans) है। यह एक सोलानेसी पौधा है जिसे इंडियन चीज़ मेकर, इंडियन रेनेट, पनीर डोडी, पनीर डोडा, पनीर बेड और कई अन्य नामों से भी जाना जाता है। इसे संस्कृत में ऋष्यगंधा, उर्दू में पनीरदोदी, हिंदी में पनीर का फूल और पनीरबंद और बंगाली में पनीर के फूलों (paneer flowers) के नाम से जाना जाता है। इसका उपयोग पनीर के उत्पादन में भी किया जाता है। इसमें निहित औषधीय गुणों के कारण इसे कई बीमारियों की रोकथाम और उपचार के लिए आयुर्वेद में फायदेमंद माना जाता है। हम post में बाद में पनीर पनीर के फूल के फायदे के बारे में अधिक जानेंगे।

पनीर के फूल के फायदे | benefits of paneer flower

1. मधुमेह रोगियों के लिए फायदेमंद | Beneficial for Diabetics

पनीर के फूलों (paneer flowers) का पौधा diabetes management में सहायता कर सकता है। यह चूहे के अध्ययन में प्रदर्शित (Display) किया गया है। अध्ययनों के अनुसार, पनीर के फूल के अर्क में मधुमेह (Diabetes) विरोधी प्रभाव होते हैं, जो रक्त शर्करा के स्तर को कम करने में मदद कर सकते हैं। इस आधार पर यह संभव है कि मधुमेह प्रबंधन (diabetes management) में पनीर के फूल के फायदे देखे जा सकते हैं।

2. अल्जाइमर के रोगियों की सहायता करता है | Helps Alzheimer’s Patients

पनीर के फूलों (paneer flowers) से अल्जाइमर रोग के रोगियों को फायदा होता है। पनीर के फूल के अर्क में वास्तव में न्यूरोप्रोटेक्टिव (neuroprotective) गुण होते हैं जो मस्तिष्क के स्वास्थ्य के लिए अच्छे हो सकते हैं। दूसरी ओर, अल्जाइमर एक न्यूरोलॉजिकल स्थिति है जिसमें मस्तिष्क की कोशिकाएं मरने लगती हैं। नतीजतन, अल्जाइमर रोग के उपचार में पनीर के फूल का उपयोग करना उपयोगी हो सकता है।

3. अनिद्रा के इलाज में फायदेमंद | Beneficial in treating insomnia

अनिद्रा के इलाज में भी पनीर के फूल के फायदे बताए जा सकते हैं। यह तनाव से राहत और रात की अच्छी नींद में सहायता कर सकता है। कई शोधों में पनीर के फूल को अनिद्रा के इलाज में मददगार पाया गया है।

4. वजन कम करने में | In losing weight

वजन घटाने में पनीर के फूल के फायदे बताए जा सकते हैं। दरअसल, अध्ययन के अनुसार, पनीर के फूलों (paneer flowers) के एथेनॉलिक अर्क में मोटापा रोधी क्रिया (Action) पाई जाती है। इस मामले में, यह निष्कर्ष निकालना उचित है कि पनीर का फूल वजन प्रबंधन (weight management) में मदद कर सकता है।

5. अस्थमा के लिए मददगार | Helpful for Asthma

पनीर के फूलों (paneer flowers) से अस्थमा (asthma) के मरीजों को फायदा हो सकता है। एक अध्ययन के अनुसार, आयुर्वेद से यूनानी तक पारंपरिक चिकित्सा (traditional medicine) में अस्थमा के इलाज के लिए पनीर के फूल का उपयोग किया जाता है।

6. त्वचा के लिए | For the skin

त्वचा की समस्याओं के उपचार में पनीर के फूलों (paneer flowers) फूल के फायदे बताए जा सकते हैं। एक अध्ययन के अनुसार अश्वगंधा पाउडर (ashwagandha powder) के साथ मिश्रित पनीर के फूल को त्वचा पर इस्तेमाल किया जा सकता है। यह त्वचा की स्थिति के उपचार में सहायता कर सकता है। यही कारण है कि इसका तेल विभिन्न प्रकार के त्वचा देखभाल products में पाया जा सकता है।

इसे भी पढ़े

काली गाजर के फायदे और नुकसान

पनीर के फूल के नुकसान | Disadvantages of Cheese Flowers

पनीर के फूलों (paneer flowers) की कुछ कमियां हैं, अब हम इससे होने वाले नुकसान के बारे में हिंदी में चर्चा करेंगे।

  • पनीर के फूल के पौधे में मूत्रवर्धक (diuretic) प्रभाव होता है। ऐसे में ज्यादा खाने से बार-बार पेशाब करने की कम इच्छा हो सकती है।
  • गर्भावस्था के दौरान इसका सेवन नहीं करना चाहिए।
  • अगर आपको कोई Infection या कोई बीमारी है, तो आपको इसके सेवन से बचना चाहिए क्योंकि यह इसे और खराब कर सकता है।
  • पनीर के फूलने का हाइपरग्लाइसेमिक प्रभाव होता है। लो ब्लड शुगर से पीड़ित लोगों को ऐसी स्थिति में इसका सेवन करने में परेशानी हो सकती है।

इसे भी पढ़े

प्याज के रस के फायदे और नुकसान

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments