Friday, December 2, 2022
Homeस्वास्थ्य और तंदुरुस्तीकोकम के फायदे और नुकसान | Advantages and disadvantages of kokum

कोकम के फायदे और नुकसान | Advantages and disadvantages of kokum

कोकम (kokum) को आयुर्वेद में वृक्षमला के नाम से जाना जाता है। कोकम का फल बैंगनी रंग का होता है और इसका स्वाद खट्टा होता है। क्या आप जानते हैं कि कोकम के फल का उपयोग कई तरह से किया जा सकता है, जिसमें खाना पकाने, मसाले के रूप में, औषधीय के रूप में और तेल निकालने के रूप में इस्तेमाल किया जा सकता है| इसका जूस भी काफी स्वादिष्ट होता है।

फल प्रकृति की देन हैं और हमें इनका सही उपयोग करके इनका लाभ उठाना चाहिए। कोकम (kokum)एक ऐसा फल है जिसे आसानी से अपने आहार में शामिल किया जा सकता है। आपको बता दें कि कोकम का सेवन कई तरह से किया जा सकता है, जिसमें फल, मसाले, तेल और जूस शामिल हैं। यह केवल यह पता लगाने की बात है कि आप कोकम कैसे खाना पसंद करते हैं। अगले भाग आपको कोकम के फायदे के बारे में जानकारी प्रदान करेंगे।

इसे भी पढ़े

राजमा के फायदे

लौकी और इसके जूस के फायदे

कोकम वास्तव में क्या है? What exactly is Kokum?

कोकम (kokum) एक ऐसा फल है जिसमें औषधीय गुण होते हैं। गार्सिनिया इंडिका इसका वैज्ञानिक नाम है। यह एक फल है जो गोवा और गुजरात का मूल निवासी है। इसका उपयोग लंबे समय से मसाले और औषधि के रूप में किया जाता रहा है। इसका सेवन शरीर को ठंडक देने के साथ-साथ कई तरह की शारीरिक बीमारियों के लिए भी अच्छा हो सकता है।

कोकम के फायदे | Benefits of Kokum

1. दस्त के इलाज के लिए | For the treatment of diarrhea

दस्त होने पर कोकम का फल मदद कर सकता है। दरअसल, कोकम (kokum) के फल में डायरिया रोधी गुण होते हैं, इसलिए इसे खाने से डायरिया के इलाज में मदद मिल सकती है। ऐसे में डायरिया से पीड़ित व्यक्ति को कोकम के फल का रस पिलाया जा सकता है।

2. एंटीफंगल और एंटी-ऑक्सीडेंट के रूप में | As Antifungal and Anti-oxidant

एंटिफंगल और एंटी-ऑक्सीडेंट गुण कोकम फल को एंटीफंगल और एंटी-ऑक्सीडेंट के रूप में इस्तेमाल किया जा सकता है। कोकम फल में एंटीफंगल और एंटी-ऑक्सीडेंट दोनों गुण होते हैं। एक अध्ययन के अनुसार, कोकम फल में पाए जाने वाले एंटी-फंगल गुणों के उपयोग से अल्सर के प्रभाव को कुछ मात्रा में कम किया जा सकता है।

3. ट्यूमर के जोखिम को कम करने में | In reducing the risk of tumors

कोकम फल का सेवन भी सक्रिय रूप से इसकी एंटी-ट्यूमर क्षमताओं का प्रदर्शन कर सकता है। दरअसल, कोकम फल में ट्यूमर रोधी क्षमता होती है, जो ट्यूमर के विकास के जोखिम को कम करने में कारगर हो सकता है। इसके अलावा, कृन्तकों पर जांच से पता चला है कि यह त्वचा के कैंसर के उपचार में सहायता कर सकता है।

4. हृदय स्वास्थ्य को बढ़ावा देने के लिए | To Promote Heart Health

कोकम फल का सेवन हृदय रोग को रोकने में भी मदद कर सकता है। वैज्ञानिक अध्ययनों के अनुसार कोकम फल में बी-कॉम्प्लेक्स विटामिन, पोटेशियम, मैंगनीज और मैग्नीशियम सभी पाए जाते हैं। ये सभी विशेषताएं हृदय गति और रक्तचाप के नियमन में सहायता कर सकती हैं। यह स्ट्रोक और हृदय रोग के जोखिम को कम करने में भी मदद कर सकता है।

5. पेट में गैस के लिए | For gas in the stomach

ज्यादातर लोगों को पेट में गैस की समस्या होती है, लेकिन कोकम के फायदे इस स्थिति को कम करने में मदद कर सकते हैं। कोकम (kokum) के सेवन से कई पाचन विकार जैसे पेट फूलना, कब्ज और अपच, साथ ही पेट की गैस से छुटकारा पाया जा सकता है।

6. लीवर के लाभ के लिए | For the benefit of the liver

कोकम का फल आपके लीवर को अच्छे आकार में रखने में भी मदद कर सकता है। वैज्ञानिक अध्ययनों के अनुसार, कोकम फल में गार्सिनॉल सहित जैव सक्रिय रसायन होते हैं, जिनमें एंटीऑक्सिडेंट, जीवाणुरोधी और एंटिफंगल गतिविधियां होती हैं। ये गुण लीवर को अच्छे आकार में रहने और कैंसर से बचाने में मदद कर सकते हैं।

7. बवासीर के जोखिम को कम करने | Reducing the Risk of Hemorrhoids

कोकम के ढेर विरोधी गुण इसे बवासीर के जोखिम को कम करने के लिए एक अच्छा विकल्प बनाते हैं। इस विकार से बचने के लिए कोकम के पेड़ के फल, छिलका और पत्तियों का रस के रूप में भी उपयोग किया जा सकता है। इसके अलावा, गंभीर बवासीर के मामले में, अक्सर चिकित्सा उपचार की आवश्यकता होती है।

8. जलने की स्थिति में | In case of burns

जलने की स्थिति में भी कोकम के फल का सेवन उपचारात्मक हो सकता है। जलने की स्थिति में कोकम के फल का आयुर्वेदिक उपचार के रूप में उपयोग किया जा सकता है। कोकम से बीज निकालने के बाद, गूदे को दही के साथ मिलाकर प्रभावित जगह पर लगाया जा सकता है।

9. वजन घटाने के मामले में | In terms of weight loss

कोकम के वजन घटाने के फायदे भी देखे जा सकते हैं। वास्तव में, कोकम में पाए जाने वाले रसायन जैसे कि गार्सिनॉल और हाइड्रोक्सीसिट्रिक एसिड वजन प्रबंधन में मदद कर सकते हैं। इस मामले में, यह निष्कर्ष निकालना उचित है कि कोकम का उपयोग वजन घटाने में सहायता कर सकता है।

10. दिमाग के लिए फायदेमंद | Beneficial for the brain

मस्तिष्क के लिए कोकम के लाभ भी प्राप्त किए जा सकते हैं। अध्ययन के अनुसार, कोकम में न्यूरोप्रोटेक्टिव गुण होते हैं जो मस्तिष्क को स्वस्थ और सुरक्षित बनाए रखते हैं। इस मामले में, यह निष्कर्ष निकालना उचित है कि कोकम मस्तिष्क के लिए फायदेमंद है।

कोकम के नुकसान | Disadvantages of kokum

हालांकि कोकम (kokum) फल खाने से कोई नुकसान नहीं होता है, फिर भी इसे कम मात्रा में ही इस्तेमाल करना चाहिए। यहाँ बहुत अधिक कोकम फल खाने के कुछ नकारात्मक परिणाम दिए गए हैं:-

  • त्वचा एलर्जी वाले लोगों को इसे लेने से पहले चिकित्सकीय सलाह लेनी चाहिए।
  • अगर कोई गंभीर बीमारी का इलाज करवा रहा है, तो उसे अपने डॉक्टर की सलाह पर ही ऐसा करना चाहिए, क्योंकि इससे इलाज की प्रभावशीलता कम हो सकती है।

इसे भी पढ़े

सोयाबीन के फायदे

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments