Saturday, July 2, 2022
Homeस्वास्थ्य और तंदुरुस्तीराजमा के फायदे | Benefits of Rajma

राजमा के फायदे | Benefits of Rajma

अधिकांश लोगों का पसंदीदा भोजन राजमा-चावल है। राजमा (Rajma) को अक्सर अंग्रेजी में किडनी बीन्स के रूप में जाना जाता है क्योंकि यह किडनी से मिलता जुलता है। यह एक प्रकार की सेम है जो पूरी दुनिया में खाई जाती है। राजमा प्रोटीन के मुख्य स्रोत के रूप में जाना जाता है क्योंकि इसमें प्रोटीन की मात्रा सबसे अधिक होती है। यह एक शक्तिशाली स्वाद है और किसी के स्वास्थ्य के लिए भी फायदेमंद है।

स्वादिष्ट भोजन की दुनिया में, राजमा (Rajma) एक प्रमुख स्थान रखता है। यह बीन परिवार से संबंधित है और दुनिया भर में व्यापक रूप से खाया जाता है। भारत में राजमा और चावल की बात करें तो भक्तों की कमी नहीं है। राजमा-चावल शब्द बोलते ही मुंह में पानी भर जाता है। जब राजमा के स्वाद की बात आती है, तो यह वरीयता का सवाल है, लेकिन जब इसके गुणों की बात आती है, तो यह कई तरह की बीमारियों के इलाज में हमारी मदद कर सकता है।

इसे भी पढ़े

क्या उबले अंडे की डाइट वजन घटाने में मदद करती हैं?

बालों में अंडे लगाने के फायदे

राजमा के पोषक तत्व

पोषक तत्व मात्रा प्रति ग्राम
पानी 11. 75g
ऊर्जा 337 kacl
प्रोटीन 22.53g
फैट 1.06g
कार्बोहाइड्रेट 61 .29g
फाइबर 15 .2g
शुगर 2.1g
कैल्शियम 83mg
आयरन 6.69mg
मैग्नीशियम 138mg
फास्फोरस 406mg
पोटैशियम 1359mg
सोडियम 12mg
जिंक 2.79mg
विटामिन-सी 4. 5mg
थाइमिन 0. 608mg
रिबोफ्लेविन 0. 215mg
नायसिन 2.11mg
विटामिन-B6 0. 397mg
फोलेट 394µg
विटामिन-के 5. 6µg
विटामिन-ई 0. 21mg
फैटी एसिड कुल मोनोसैचुरेटेड 0. 082g
फैटी एसिड पॉलीअनसैचुरेटेड 0. 586g
फैटी एसिड कुल ट्रांस 0. 00
कोलेस्ट्रॉल 0 .0

राजमा के फायदे | Benefits of Rajma

राजमा (Rajma) पोषक तत्वों से भरपूर, पोषक तत्वों से भरपूर आहार है। इसमें फाइबर भी होता है, जो पाचन तंत्र में सुधार के अलावा कब्ज जैसे विकारों को दूर करने में मदद करता है। इसमें लोहा, तांबा, फोलेट, मैग्नीशियम, कैल्शियम और विटामिन सी जैसे खनिज भी शामिल हैं। इस लेख में, हम जानेंगे कि राजमा विभिन्न प्रकार की शारीरिक स्थितियों में कैसे मदद कर सकता है।

1. वजन कम करने के लिए | To Lose Weight

माना जाता है कि राजमा (Rajma) के गुण वजन घटाने में मदद करते हैं। राजमा में भरपूर मात्रा में फाइबर (fiber) होता है। फाइबर वजन घटाने में मदद करता है। निष्कर्षों के अनुसार, फाइबर युक्त खाद्य पदार्थ शरीर में अतिरिक्त कैलोरी जोड़े बिना पेट भरने में मदद करते हैं। इसमें प्रतिरोधी स्टार्च भी होता है, जो वसा को कम करने में सहायता कर सकता है।

किडनी बीन्स को हृदय रोग में मदद करने के लिए दिखाया गया है। राजमा (Rajma) से एलडीएल कोलेस्ट्रॉल (खराब कोलेस्ट्रॉल) कम होता है। इसमें मैग्नीशियम होता है, जो रक्तचाप को नियंत्रित रखने में मदद करता है। राजमा को हृदय रोग के जोखिम को कम करने के लिए दिखाया गया है।

3. हड्डियों को मजबूत बनाने के लिए | To strengthen bones

मजबूत हड्डियों के लिए कैल्शियम की आवश्यकता होती है। राजमा में कैल्शियम और मैग्नीशियम जैसे आवश्यक तत्व होते हैं, जो हड्डियों की मजबूती में सहायता करते हैं। यदि राजमा खाने का तरीका आपके दैनिक जीवन में सही ढंग से समाहित हो जाए तो यह बहुत उपयोगी होता है।

4. कैंसर को रोकने में मदद | Help Prevent Cancer

राजमा कैंसर के इलाज में भी फायदेमंद होता है। राजमा खाने से शरीर में बायोएक्टिव मॉलिक्यूल की पूर्ति होती है, जो कैंसर की रोकथाम में मदद करता है। दूसरी ओर, कई पुराने विकार अपने आप ठीक हो सकते हैं। जब राजमा को अन्य एंटीऑक्सिडेंट युक्त खाद्य पदार्थों के साथ मिलाया जाता है, तो शरीर की ऑक्सीकरण प्रक्रिया धीमी हो जाती है, और कैंसर जैसी बीमारियों के विकसित होने की संभावना कम होती है।

5. मधुमेह उपचार | Diabetes Treatment

राजमा में ऐसे गुण होते हैं जो मधुमेह के उपचार में सहायता कर सकते हैं। राजमा न केवल मधुमेह को रोकता है बल्कि रक्त शर्करा के स्तर को भी नियंत्रित करता है। राजमा में कार्बोहाइड्रेट होता है, जो मधुमेह को नियंत्रित करने में मदद करता है। राजमा में अघुलनशील फाइबर होता है, जो कोलेस्ट्रॉल को कम करने में मदद करता है।

6. कोलेस्ट्रॉल | Cholesterol

शरीर में हानिकारक कोलेस्ट्रॉल की मात्रा बढ़ने से रक्त का संचार interrupt हो जाता है। इस स्थिति में राजमा आपकी सहायता कर सकता है। राजमा में कोई कोलेस्ट्रॉल नहीं होता। नतीजतन, राजमा खाने से शरीर के स्वस्थ कोलेस्ट्रॉल पर कोई प्रभाव नहीं पड़ता है। नतीजतन, जब राजमा का सेवन किया जाता है, तो शरीर में खराब कोलेस्ट्रॉल (एलडीएल) की मात्रा कम हो जाती है, जबकि शरीर में अच्छे कोलेस्ट्रॉल की मात्रा अपरिवर्तित रहती है।

7. मस्तिष्क के विकास में मदद | Help in brain development

राजमा में कोलीन होता है, एक आवश्यक विटामिन जो एसिटाइलकोलाइन में परिवर्तित हो जाता है। एसिटाइलकोलाइन एक न्यूरोट्रांसमीटर है जो मस्तिष्क के विकास और तंत्रिका तंत्र के कार्य को नियंत्रित करता है। राजमा प्रारंभिक अवस्था में मस्तिष्क के विकास में भी मदद कर सकता है।

8. कब्ज दूर करने में मदद | Helps to Relieve Constipation

राजमा (Rajma) में फाइबर की अच्छी मात्रा होती है, जो पाचन में मदद करता है। आपके शरीर को आवश्यक फाइबर की मात्रा आपकी उम्र पर निर्भर करती है। राजमा अन्य फलियों की तुलना में बेहतर फाइबर स्रोत हो सकता है। नतीजतन, किडनी बीन्स की विशेषताओं का उपयोग कब्ज के इलाज के लिए किया जा सकता है।

9. रोग प्रतिरोधक क्षमता | Immunity

राजमा एक ऐसा भोजन है जिसमें विभिन्न प्रकार के विटामिन होते हैं और यह रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है। इम्युनिटी बढ़ाने के लिए विटामिन बी6, जिंक, आयरन, फोलिक एसिड और एंटीऑक्सीडेंट सभी की जरूरत होती है।राजमा का सेवन आपकी सेहत के लिए फायदेमंद हो सकता है।

10. ब्लड प्रेशर को नियंत्रित रखने में मदद | Helps in controlling blood pressure

ब्लड प्रेशर बढ़ने से शरीर के सिस्टम पर असर पड़ता है। इसका अधिकांश प्रभाव हृदय पर पड़ता है। इसका असर कार्डियक फंक्शन पर पड़ता है। ब्लड प्रेशर को कंट्रोल में रखने के लिए लो फैट डाइट लें। आप अपने आहार में राजमा को शामिल करके ऐसा कर सकते हैं क्योंकि वे फाइबर से भरपूर होते हैं, जो आपको वजन कम करने में मदद करते हैं।

इसे भी पढ़े

चेहरे पर चमक लाने के लिए जूस

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments