Saturday, July 2, 2022
Homeस्वास्थ्य और तंदुरुस्तीतांबे के वर्तन में पानी पीने के फायदे और नुकसान | Advantages...

तांबे के वर्तन में पानी पीने के फायदे और नुकसान | Advantages and disadvantages of drinking water in a copper vessel

भारतीय संस्कृति में तांबे के बर्तनों (copper vessel) का विशेष स्थान है। कॉपर अपने आप में एक प्राकृतिक कीटाणुनाशक (natural disinfectant) है। सुबह खाली पेट सबसे पहले तांबे के बर्तन का पानी पीने से कई स्वास्थ्य लाभ होते हैं। तांबे के बर्तन का पानी गलत तरीके से और गलत समय पर पीने से नुकसान हो सकता है। ऐसे में तांबे के बर्तन से पानी पीने के फायदे और नुकसान के बारे में पता होना चाहिए। जब स्वच्छता की बात आती है तो तांबे के बर्तनों पर अतिरिक्त ध्यान देने की आवश्यकता होती है।

पहले खाने-पीने को तांबे के बर्तनों (copper vessel) में रखा जाता था, लेकिन समय के साथ इसमें बदलाव आया है। लोग आजकल स्टील, कांच और प्लास्टिक के कटलरी (cutlery) को महत्व देते हैं। इसका कारण यह है कि वे साफ करने में आसान हैं। सेहत की बात करें तो वहीं आज के बुजुर्ग भी तांबे के बर्तन में रखे पानी को सुरक्षित मानते हैं। वैज्ञानिक दृष्टि से भी यह बात कहीं न कहीं सत्य सिद्ध हुई है। इसीलिए, इस पोस्ट में, हम तांबे के बर्तन से पानी पीने के फायदों के बारे में चर्चा करते हैं। इसके अलावा, हम तांबे के बर्तन से पानी पीने की कमियों का पता लगाएंगे:-

इसे भी पढ़े

क्या मैदा सेहत के लिए अच्छा हैं

खाना खाने के बाद टहलने के फायदे

मखना के फायदे और नुकसान

पुदीने की चाय के फायदे और नुकसान

तांबे के बर्तन के फायदे | benefits of copper vessel

तांबे के बर्तनों (copper vessel) का पानी पीने से इनसे छुटकारा पाया जा सकता है। तांबे में खनिज होते हैं जो खतरनाक बैक्टीरिया को नष्ट करने और पेट की परेशानी को कम करने में मदद करते हैं। यह अल्सर, अपच और Infection जैसी पेट की समस्याओं के लिए अच्छा काम करता है। यहां, हम तांबे के बर्तन से पानी पीने के फायदों के बारे में जानेंगे ताकि आपको यह समझने में मदद मिल सके कि इसका उपयोग करना कब अच्छा है। साथ ही ध्यान रखें कि यह केवल एक घरेलू उपाय है जो राहत दिला सकता है। तो आइए जानते हैं तांबे की बोतल से पानी पीने के फायदे:-

1 . थायराइड स्वास्थ्य को बढ़ावा देता है | Promotes Thyroid Health

माना जाता है कि तांबे की बोतल से पानी पीने से थायराइड की समस्या में मदद मिलती है। यह दो अलग-अलग अध्ययनों में साबित हुआ है। जर्नल ऑफ हेल्थ, पॉपुलेशन एंड न्यूट्रिशन में प्रकाशित शोध के अनुसार तांबे को तांबे के बर्तन में रखे पानी में एकीकृत किया जाता है। वहीं, युवाओं में हाइपोथायरायडिज्म (थायरॉयड हार्मोन की कमी) को लेकर एक अध्ययन में कॉपर को थायराइड हार्मोन के लिए जरूरी बताया गया था। अध्ययन के अनुसार शरीर में कॉपर की कमी से हाइपोथायरायडिज्म हो सकता है। इस आधार पर, यह माना जा सकता है कि तांबे के बर्तन से पानी पीने से हाइपोथायरायडिज्म में मदद मिल सकती है। इसके बावजूद, थायराइड की दवा के लिए चिकित्सकीय सलाह की आवश्यकता होती है।

2. गठिया के लिए सहायक | Helpful for Arthritis

तांबे के बर्तनों (copper vessel) में रखा पानी पीने से गठिया के लक्षणों को कम करने में भी मदद मिल सकती है। गठिया पर एक अध्ययन के अनुसार, तांबे से युक्त नमक का उपयोग रूमेटोइड और गठिया के साथ मदद कर सकता है। तांबे के बर्तन में रखे पानी में तांबा Automatically ही जुड़ जाता है । इस आधार पर यह निष्कर्ष निकालना उचित है कि गठिया की स्थिति में भी तांबे की बोतल से पानी पीने के लाभ प्राप्त किए जा सकते हैं।

3. वजन कम करने में | Helps Lose Weight

तांबे के बर्तन से पीने के फायदे वजन कम करने में भी आपकी मदद कर सकते हैं। एक अध्ययन के अनुसार, तांबा वसा जलने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकता है। वहीं तांबे के बर्तन में रखे पानी में तांबा होने के कारण यह मोटापे की समस्या को कम करने में मदद कर सकता है। इस आधार पर, यह अनुमान लगाया जा सकता है कि तांबे के बर्तन में पानी रखने से वजन बढ़ने को नियंत्रित करने में मदद मिल सकती है।

4. पेट की परेशानी से बचें | Avoid stomach trouble

तांबे के बर्तन में रखा पानी भी पेट की समस्याओं को दूर रखने में मदद कर सकता है। इसका प्रमाण तांबे के जग से पानी पीने के लाभों पर एक अध्ययन में पाया जा सकता है। अध्ययनों के अनुसार, अशुद्ध पानी पेट से संबंधित कई तरह की समस्याओं का स्रोत (Source) हो सकता है। दूसरी ओर, तांबे में पानी में खतरनाक सूक्ष्मजीवों को मारने की शक्ति होती है। दूषित पानी से होने वाले दस्त से बचा जा सकता है।

5. एनीमिया से बचें | Avoid Anemia

तांबे के बर्तन का पानी पीने से भी आपको एनीमिया होने में मदद मिल सकती है। वास्तव में, तांबे की कमी एनीमिया के सबसे आम कारणों में से एक है। तांबे के बर्तन में रखा पानी पीने से ऐसी स्थिति में इस कमी को कुछ हद तक दूर किया जा सकता है।

6. हृदय स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद | Beneficial for Heart Health

तांबे के बर्तन में रखा पानी भी दिल के लिए फायदेमंद होता है। शोध के अनुसार तांबे की कमी से उच्च रक्तचाप और धमनीकाठिन्य (धमनियों में वसा जमा) हो सकता है। इन दोनों मुद्दों का संबंध हृदय स्वास्थ्य से है। ऐसे में तांबे के बर्तन में रखे पानी में मौजूद तांबा तांबे की पूर्ति करके हृदय स्वास्थ्य को बनाए रखने में मदद कर सकता है।

7. गर्भावस्था के दौरान मददगार | Helpful During Pregnancy

गर्भावस्था के दौरान भी तांबे के जार में रखा पानी फायदेमंद हो सकता है। इसका कारण यह है कि तांबे के बर्तन में पानी रखने से पानी में तांबा मिल जाता है। नतीजतन, यह गर्भावस्था के दौरान तांबे का एक अच्छा स्रोत हो सकता है। दूसरी ओर, गर्भावस्था के दौरान तांबे की कमी से गर्भपात, जन्मजात असामान्यताएं, गर्भावस्था के दौरान उच्च रक्तचाप, गर्भाशय से प्लेसेंटा का अलग होना और गर्भाशय का जल्दी खुलना जैसी complications हो सकती हैं।

8. पीलिया से छुटकारा | Relieve Jaundice

तांबे के जार में रखा पानी कुछ हद तक पीलिया से राहत दिलाने में मदद कर सकता है। अध्ययनों के अनुसार, हाइपरबिलीरुबिनमिया (hyperbilirubinemia) के इलाज के लिए इस्तेमाल की जाने वाली फोटोथेरेपी बिलीरुबिन, कैल्शियम और मैग्नीशियम के स्तर को कम करके शरीर में जस्ता और तांबे के स्तर को बढ़ाती है।

9. त्वचा के लिए | For the skin

तांबे के जार में रखा पानी भी त्वचा के लिए फायदेमंद हो सकता है। तांबे के बर्तन में रखे जाने पर भी तांबा नैचुरली शामिल होता है। नतीजतन, तांबे के बर्तन में जमा पानी तांबे का एक मूल्यवान (valuable) स्रोत हो सकता है। एक अध्ययन के अनुसार, कॉपर को त्वचा के लिए एक महत्वपूर्ण तत्व माना जाता है।

तांबे के वर्तन में पानी पीने के नुकसान | Disadvantages of drinking water in a copper vessel

तांबे के बर्तनों (copper vessel) में पानी पीने के नुकसान को हम नीचे दिए गए points को देखकर समझ सकते हैं, जो तांबे की अधिकता या कुछ असामान्य परिस्थितियों में देखे जा सकते हैं:-

  • पेट में तांबे की अधिकता पेट फूलने का कारण बन सकती है।
  • तांबे की अधिकता होने पर आंतों में erosion के रूप में जानी जाने वाली आंत में विकसित हो सकती है।
  • तांबे की अधिकता poisoning का कारण बन सकती है, जिसके परिणामस्वरूप गंभीर परिस्थितियों में heart contraction, कोमा या मृत्यु हो सकती है।
  • तांबे की अधिकता के कारण, जिगर की क्षति देखी जा सकती है।
  • विल्सन रोग एक जन्मजात स्थिति है जिसमें शरीर में बहुत अधिक तांबा जमा हो जाता है। विल्सन रोग के रोगियों को तांबे के बर्तन का पानी पीने से बचना चाहिए।

इसे भी पढ़े

चुकंदर के फायदे और नुकसान

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments